नवरात्रि: भूलकर भी ना करें ये 8 काम

शारदीय नवरात्र 17 अक्टूबर से 24 अक्टूबर तक रहने वाले हैं. इस दौरान मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की उपासना से सुख-समृद्धि की इच्छाएं पूरी होती हैं. नवरात्रि में देवी के नौ दिन के व्रत का बड़ा महत्व है. इन नौ दिनों में हर किसी को कुछ खास नियमों का सख्ती से पालन करना चाहिए. आइए जानते हैं नवरात्र के समय में कौन से काम करने से बचना चाहिए.

लहसुन-प्याज
1. नवरात्रि के दौरान हल्का और सात्विक भोजन करना चाहिए. नवरात्र के दौरान खाने में प्याज, लहसुन और नॉन वेज बिल्कुल न खाएं.

सात्विक भोजन का सेवन करें
2. व्रत में नौ दिनों तक खाने में अनाज और नमक का सेवन नहीं करना चाहिए. खाने में कुट्टू का आटा, समारी के चावल, सिंघाड़े का आटा, साबूदाना, सेंधा नमक, फल, आलू, मेवे, मूंगफली खा सकते हैं.

इस रंग के कपड़े ना पहनें
3. नौ दिन का व्रत रखने वालों को काले रंग के कपड़े नहीं पहनने चाहिए. इस दौरान सिलाई-कढ़ाई जैसे काम भी वर्जित होते हैं, जिनमें नुकीली चीजों का इस्तेमाल होता है.

चमड़े की वस्तुएं ना रखें
4. संभव हो तो नवरात्र के दौरान व्रत रखने वाले लोगों को बेल्ट, पर्स, चप्पल-जूते, बैग जैसी चमड़े की चीजों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. मंदिरों में प्रवेश से पहले भी इन चीजों को बाहर रखकर जाना चाहिए.

पूजा स्थल खाली ना छोड़ें
5. अगर आप नवरात्रि में कलश स्थापना कर रहे हैं, माता की चौकी का आयोजन कर रहे हैं या अखंड ज्योति जला रहे हैं तो इन दिनों घर खाली छोड़कर नहीं जाएं. पूजा घर को गंदा नहीं रखें. बिना दीपक जलाए कभी भी शक्ति की पूजा नहीं की जा सकती है.

मांस-मदिरा पान से दूरी
6. नवरात्र के दौरान मांसाहार और शराब इत्यादि से बिल्कुल दूर रहना चाहिए. व्रत में शारीरिक और मानसिक दोनों ही तरह से संयम जरूरी है.

दिन में ना सोएं
7. विष्णु पुराण के अनुसार, नवरात्रि के समय में दिन के समय सोने से बचना चाहिए. मन में कपट रखने या किसी को अप शब्द कहने से भी बचना चाहिए.

नाखून-बाल कटवाने से परहेज
8. नवरात्र के दौरान नाखून काटना भी वर्जित होता है इसलिए नवरात्र शुरू होने से पहले ही नाखून काट लेने चाहिए. नवरात्रि में नौ दिन का व्रत रखने वालों को दाढ़ी-मूंछ और बाल नहीं कटवाने चाहिए.

,
Shares