MP : महिला आरक्षक से दोस्ती की, नशीला पदार्थ खिलाकर किया दुष्कर्म

ग्वालियर। एक साल पहले महिला आरक्षक से दोस्ती की फिर एक दिन उसे घुमाने की कहकर जीप में ले गया। एक सूनसान घर में ले जाकर उसे नशीला पदार्थ खिलाया फिर दुष्कर्म किया। इसके बाद उसके फोटो भी खींचे। महिला के पर्स से मार्कशीट, आधार की कॉपी भी चोरी की। घटना कम्पू थानाक्षेत्र स्थित केआरजी कॉलेज के पास 27 दिसंबर 2019 की है। अब आरोपित ने महिला के दस्तावेज के आधार पर शादी का फर्जी रजिस्ट्रेशन भी बनवा लिया है। घटना के बाद से महिला आरक्षक छुट्टी पर थी। जब आरोपित धमकाने लगा तो उसने पुलिस कप्तान से शिकायत की है। जिस पर कम्पू थाना में आरोपित व उसके परिजन पर मामला दर्ज किया है।

मुरैना निवासी 22 वर्षीय युवती शहर के एक थाना में बतौर आरक्षक पदस्थ है। महिला आरक्षक ने पुलिस अधीक्षक से 3 दिन पहले एक शिकायत की थी। जिसमें बताया था कि एक साल पूर्व एक सहेली के घर पर उसकी मुलाकात लोकेन्द्र पुत्र जयसिंह से हुई थी। इसके बाद उससे फोन पर बात होने लगी। 27 दिसंबर को जब वह अपनी ड्यूटी करके घर जा रही थी तभी केआरजी कॉलेज के पास लोकेन्द्र जीप लेकर पहुंचा।

 

यहां महिला आरक्षक के मना करने के बाद भी वह गाड़ी में बैठाया और अपने साथ सूनसान मकान में ले गया। यहां उसे कुछ खाने को दिया। इसके बाद महिला आरक्षक बेहोश हो गई। जब होश आया तो शरीर पर कपड़े नहीं थे। उसके साथ गलत काम हो चुका था। आरोपित उसका वीडियो बना रहा था।

बाद में उसने देखा तो बाहर आरोपित का पिता जयसिंह, भाई धर्मेन्द्र, बहनोई संदीप, मां और भाभी भी थी। इसके बाद सभी ने उसे धमकाया कि इस बात का जिक्र किसी से किया तो वह उसके भाई व माता-पिता को जान से मार देंगे। महिला आरक्षक चुपचाप अपने घर चली गई। इसके बाद आरोपित उसे ब्लैकमेल करने लगा, इसलिए पीड़िता ने एसपी से शिकायत की। कम्पू थाना पुलिस ने शुक्रवार रात पीड़िता की शिकायत पर आरोपित, उसके भाई, पिता व अन्य परिजन के खिलाफ अपहरण, दुष्कर्म व धमकाने का मामला दर्ज किया है।

महिला नायब तहसीलदार का भ्रूण लिंग परीक्षण कराने झांसी ले गई आंगनबाड़ी सहायिका, पकड़ाई
महिला नायब तहसीलदार का भ्रूण लिंग परीक्षण कराने झांसी ले गई आंगनबाड़ी सहायिका, पकड़ाई
यह भी पढ़ें

शादी का प्रमाण पत्र बना कर धमकाया

पीड़िता ने शिकायत में यह भी कहा कि आरोपित व उसके परिजन ने घटना वाले दिन उसके आधार कार्ड, अंकसूची, फोटो भी पर्स से निकाल लिए थे। इसी आधार पर उन्होंने नोटरी में शादी का रजिस्ट्रेशन कराकर शादी का फर्जी दस्तावेज बनाए हैं। जब भी पीड़िता पुलिस में शिकायत करने की बात कहती तो आरोपित यही कहकर धमका देता था कि वह सबूत के तौर पर यह दिखा देगा कि तुमने उससे शादी की है।

,
Shares