Coronavirus: इन्दौर में 8 हजार से ज्यादा होम क्वारेंटाइन किए गए

8 हजार से ज्यादा होम क्वारेंटाइन किए गए

इंदौर में काेराेना संक्रमण के गुरुवार रात 5 नए मामले आने के बाद पाॅजिटिव की संख्या अब 3 दिन में 15 हो चुकी है। रात में आई रिपोर्ट में 14 और 18 साल की लड़की भी कोरोना संक्रमित पाई गई है। इसमें से उज्जैन निवासी 65 वर्षीय महिला और इंदौर के रहने वाले 65 साल के बुजुर्ग की मौत हो चुकी। इंदौर में 300% की रफ्तार से कोरोना का दायरा बढ़ने से हड़कंप मचा है। पहले 54 दिनों में यहां कोई केस सामने नहीं आया था, लेकिन 3 दिन से लगातार 5-5 केस सामने आ रहे हैं। इसी बीच, प्रशासन ने शहर के उन इलाकों को कैंटोनमेंट (निषेध) एरिया घोषित कर दिया, जहां पॉजिटिव मरीज मिले हैं।
अफसरों के मुताबिक, गुरुवार रात जो नए 5 मरीज मिले हैं, इनकी हालत स्थिर है। मगलवार और बुधवार रात को जो 10 कोरोना संक्रमित मरीज मिले थे, उनके नजदीकी और करीबी लोगों की स्क्रीनिंग की जा रही है। इनके संपर्क में 29 लोगों के आने की बात सामने आई, जबकि देर रात मिले मरीजों से 40 लोग मिले या उनके साथ रहे। इस तरह से 69 की स्क्रीनिंग की जा रही है। कैंटोनमेंट (निषेध) एरिया मरीजों के घर से तीन किमी तक का होगा और इसमें किसी भी व्यक्ति को बाहर आने-जाने नहीं दिया जाएगा। इन इलाकों के आठ हजार से ज्यादा लोग होम क्वारेंटाइन हो गए हैं।

स्नेह नगर, खातीवाला टैंक समेत 9 कैंटोनमेंट एरिया
चंदननगर, 12/1 रानीपुरा, 566 स्नेह नगर, 6 मनीष बाग, मैपल वुड बिल्डिंग ए वन ब्लॉक, निपानिया, 128 सिलावटपुरा, 56/3 दौलतगंज, 22 दाउदी नगर खजराना रोड, 813 खातीवाला टैंक। इन घरों को एपी सेंटर घोषित करते हुए इसके 3 किमी की परिधि में कैंटोनमेंट एरिया रहेगा और 5 किमी की परिधि में बफर जोन रहेगा। एग्जिट पॉइंट पर कर्मचारी स्क्रीनिंग करेंगे। हर दिन 50 घरों में टीम जाएगी और रिपोर्ट लेगी। पॉजिटिव केस वालों के परिजन, निकट, संपर्क वालों पर 14 दिन तक नजर रखी जाएगी। इन एरिया के लोगों के संपर्क के लिए हेल्पलाइन नंबर- 7489244895 और 104 व लैंडलाइन नंबर 0731-2567333 रहेगा।

 

टीम यहां के लोगों से सर्वे फार्म भरवाएगी। इसमें पूरे 28 दिनों की जानकारी मांगी जाएगी। इसमें पूछा जाएगा कि वह इंदौर में किस रेस्त्रां, होटल, मॉल, बार, अन्य घरों, किराना-सब्जी दुकान, मंदिर या अन्य धार्मिक स्थल या कहां-कहां गए थे। उनके स्वास्थ्य की लगातार मॉनिटरिंग भी होगी। कैंटोनमेंट एरिया में हर दिन सर्वे होगा और सभी लोगों से एक फार्म में जानकारी ली जाएगी कि वह कहां-कहां गए और किस-किस से मिले। यहां प्रशासन और नगर निगम जरूरी सामग्री की आपूर्ति करेगा। छोटे वाहनों से सब्जी, फल आदि लोगों के घर पहुंचाएंगे। एक मेडिकल टीम हर एरिया में तैनात रहेगी। इन इलाकों के एंट्री व एक्जिट पॉइंट पर पुलिस तैनात कर दी है, ताकि बाहर से भी कोई न आ सके। किसी ने आवाजाही की तो उस पर कानूनी कार्रवाई होगी।

,
Shares