corona virus:भारत ने कई देशों के वीजा पर लगाई रोक

कोरोना वायरस के खतरे के कारण इटली, जापान, ईरान और साउथ कोरिया के यात्रियों के वीजा पर रोक लगा दी है. भारतीयों को भी इन देशों की यात्रा से बचने की एडवायजरी जारी की गई है.

यूपी के 63 लोग निगरानी मेंयूपी सरकार के मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक बारह देशों से घूमकर आए 63 लोग निगरानी में हैं. यूपी के 1570 लोग 28 दिन की निगरानी पूरी कर चुके हैं. जबकि कल कोरोना के लक्षण को देखते हुए 15 लोग अस्पतालों में भर्ती किया गया है. इनमें आगरा के 4 लोगों को दिल्ली के सफदजरजंग अस्पताल, 6 को नोएडा और 5 को बुलंदशह में भर्ती कराया गया. जबकि 6 सैंपल जांच के लिए एनआईवी पुणे भेजे गए हैं. ये सभी आगरा से हैं. यूपी से अब तक कुल 131 सैंपल जांच के लिए एनआईवी पुणे भेजे गए जिनमें 109 निगेटिव आए. 22 के नतीजों का इंतजार है.

योगी सरकार ने जारी किया बुलेटिन

नोएडा और आगरा में कोरोना वायरस को लेकर हड़कंप मचने के बाद कल यूपी सरकार को मेडिकल बुलेटिन जारी करना पड़ा. सरकार का दावा है कि यूपी में कोरोना का कोई मरीज नहीं है. मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक नोएडा का एक शख्स जर्मन मूल के कोरोना मरीज के संपर्क में आया था. एहतियात के तौर पर उसे दिल्ली के राममनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उसकी स्थिति सामान्य है. जांच रिपोर्ट भी निगेटिव आई है.

सऊदी से आए यात्री को भेजा अस्पताल

चीन से आए कोरोना वायरस को करारी शिकस्त देने के लिए भारत तैयार है. दिल्ली से मुंबई तक, हैदराबाद से लखनऊ तक… पूरे देश के तमाम हवाईअड्डों और बंदरगाहों पर विदेश से आने वाले लोगों की कड़ी स्क्रीनिंग जारी है. ऐसी ही एक स्क्रीनिंग के दौरान लखनऊ के चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पर सऊदी अरब से आए एक यात्री को शक के आधार पर शहर के लोकबंधु अस्पताल में भर्ती कराया गया है. अस्पताल की चिकित्सा अधीक्षक अमिता यादव के मुताबिक मरीज की स्थिति अभी सामान्य है. फिजीशियन की देखरेख में मरीज की मोनिटरिंग की जा रही है. रिपोर्ट आने तक एहतियात बरती जा रही है.

विदेशी नागरिकों की हो रही कड़ी जांचनेपाल के रास्ते चीन, थाईलैंड या अन्य देशों से आने वाले नागरिकों की कड़ी जांच की जा रही है. भारतीय हाट-बाजारों में काफी संख्या में नेपाली नागरिक खरीददारी के लिए आते हैं. इन हाट बाजारों पर भी मेडिकल की टुकडी तैनात की गई है जो सीमापार से आने वालो की गहन जांच कर रही हैं.

बलरामपुर जिले की लगभग 85 किलोमीटर की सामा नेपाल राष्ट्र से जुडी हुई है. सीमावर्ती गांवों के ग्राम प्रधानों को भी कोरोना वायरस को लेकर सतर्क किया गया है और ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों और कर्मचारियों को निर्देश दिया गया है कि वे गांवों में चौपाल लगाकर लोगों को जागरुक करें और कोई भी संदिग्ध दिखाई पड़े तो तत्काल उसकी सूचना स्वास्थ्य विभाग को दें.

नेपाल बॉर्डर पर कड़ी निगरानी

यूपी में कोरोना वायरस की दस्तक के बाद बलरामपुर में नेपाल सीमा पर हाई अलर्ट कर दिया गया है. नेपाल से आने जाने वालो पर कडी निगरानी रखी जा रही है. सीमापार से आने वाले लोगो की विधिवत चेकिंग की जा रही है साथ ही सीमा पर तैनात एसएसबी को भी पूरी तरह अलर्ट कर दिया गया है. सीमा पर तैनात एसएसबी को सतर्क कर दिया गया है. नेपाल से आने वाले लोगो की मेडिकल टीम के द्वारा जाँच कराई जा रही है. नेपाल से आने वाले लोगो की रिपोर्ट भी शासन को भेजी जा रही है. एसएसबी भी पूरी तरह से स्वास्थ्य विभाग की टीम को सहयोग प्रदान कर रही है. नेपाल सीमा से सटे सभी चार विकास खण्डो में मेडिकल टीम और एम्बुलेंस लगाई गई है जो सिर्फ संदिग्ध लोगों को लेकर कोरोना वायरस के लिए बनाए गए आइसोलेशन वार्ड तक पहुंचेगी.

स्वास्थ्य मंत्री ने बुलाई बैठक,

आगरा में अलर्टस्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कोरोना वायरस को लेकर समिक्षा बैठक बुलाई है. इसके बाद वो प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे. आगरा के 6 मरीजों में कोरोना वायरस संदिग्ध होने की जानकारी सामने आई है. जिला अस्‍पताल में सोमवार को 13 लोगों की जांच हुई थी जिसके बाद जांच के सेंपल लखनऊ भेजे गए थे. आगरा के दो कारोबारी भाई दिल्‍ली के एक रिश्‍तेदार परिवार के साथ इटली गए थे. 25 फरवरी को उनके परिवार सहित वापस वापस लौटने के बाद दिल्‍ली में परिवार के एक सदस्‍य को सर्दी-जुकाम हुआ. शक होने पर जांच कराई तो कोरोना वायरस से संक्रमित होने का डॉक्टर को पता चला.

ये बात जब आगरा निवासी परिवार को पता चली तो वे भी जिला अस्‍पताल में जांच के लिए पहुंचे जहां रैपिड रिस्पोंस टीम ने 13 लोगों की स्क्रीनिंग की और इन सभी के सेंपल जांच के लिए लखनऊ भेजे. मंगलवार को आई रिपोर्ट में 13 लोगों में से 6 लोगों की रिपोर्ट हाइली सस्पेक्टेड निकली. स्थानीय मेडिकल प्रशासन ने तत्परता दिखाते हुए दो लोगों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर लिया है और अन्य सदस्यों की उनके घर में ही निगरानी की जा रही है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार लखनऊ भेजे गए सैंपल्स को पुणे की लेबोरेट्री में जांच के लिए भेज दिया गया है और जांच रिपोर्ट आने के बाद ही यह तय हो सकेगा की मरीज कोरोना से संक्रमित हैं या नहीं?.

दिल्ली एनसीआर में मास्क की मांग बढ़ी

कोरोना की दहशत के चलते दिल्ली एनसीआर में मास्क की मांग बढ़ी गई है. मेडिकल स्टोर्स पर भारी भीड़ देखी जा सकती है. विदेश से आने वाले हर एक शख्स पर नजर रखी जा रही है. सभी अंरर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट पर यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग जारी है. कोरोना के खतरे के चलते बलरामपुर में नेपाल बॉर्डर पर निगरानी सख्त कर दी गई है. सीमापार आने-जाने वालों की जांच की जा रही है.

नोएडा में हड़कंपइटली से लौटे दिल्ली के कारोबारी में कोरोना की पुष्टि के बाद नोएडा के स्कूल में हड़कंप मच गया है. संक्रमित कारोबारी के बच्चे इसी स्कूल में पढ़ते हैं. इटली से लौटे कारोबारी के 6 रिश्तदारों के सैंपल भी लिए गए हैं. पुणे से फाइनल रिपोर्ट आने का इंतजार है. इसके अलावा इटली से आए 21 पर्यटकों को भी दिल्ली में ITBP के आइसोलेशन सेंटर में रखा गया है. इस ग्रुप के एक सदस्य में कोरोना के लक्षण मिले थे.

,
Shares