वोडाफ़ोन और आईडिया बंद कर सकती हैं भारत में अपनी सर्विस

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद टेलीकॉम कंपनी Vodafone और Idea बड़े संकट में फंस गई हैं. हर महीने हो रहे भारी घाटे के बाद अब आइडिया-वोडाफोन के लिए अपने ऑपरेशंस (Vodafone Idea may shut the shop) को भारत में चलाना और मुश्किल हो गया है. इसीलिए कंपनी की बोर्ड बैठक में आज भारत में कंपनी के भविष्य पर फैसला हो सकता है.डीओटी की रकम को चुकाने के लिए कंपनी के पास और क्या ऑपशंस हैं इस पर भी बैठक में फैसला होगा.

वोडाफोन-आइडिया पर 53,000 करोड़ रुपये का एजीआर  बकाया है. वहीं, कंपनी को तीसरी तिमाही यानी अक्टूबर-दिसंबर के दौरान कुल 6,439 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है. यह लगातार छठी तिमाही है, जब कंपनी को नुकसान हुआ है. इस खबर के बाद कंपनी के शेयर में 20 फीसदी से ज्यादा की गिरावट देखने को मिली है.
अब क्या होगा-

वीएम पोर्टफोलियो के रिसर्च हेड विवेक मित्तल का कहना है कि ‘वोडाफोन आइडिया के पास पैसे नहीं हैं. ऐसे वो NCLT में जा सकती है, क्योंकि उसे 17 मार्च को मामले की होने वाली अगली सुनवाई से पहले बकाये का भुगतान करना है. अगर इस मामले को स्वीकार कर लेता है तो बैंकरप्टसी लॉ के तहत बकाया चुकाने पर रोक लग जाएगी और इस तरह कंपनी को भुगतान नहीं करना पड़ सकता है.

क्या है मामला-

एजीआर मामले में सुप्रीम कोर्ट ने टेलीकॉम कंपनियों को कोई भी राहत देने से इनकार किया है. अदालत ने इन कंपनियों के खिलाफ सख्त रवैया अपनाया है. 16 जनवरी को जस्टिस अरुण मिश्रा की पीठ ने दूरसंचार कंपनियों को सरकार को एडजस्टेड ग्रॉस रेवेन्यू (एजीआर) चुकाने के आदेश दिए थे.

,
Shares