रेलवे ने यात्री किराया बढ़ाया, आज से होगा लागू

नई दिल्ली,  नए साल में यात्रियों को रेल यात्रा के दौरान अपनी जेब और ढीली करनी पड़ेगी। रेलवे ने यात्रियों की जेब पर और भार डालते हुए किराए में बढ़ोतरी कर दी है। इसके तहत स्लीपर श्रेणी का किराया दो पैसा प्रतिकिलोमीटर और एसी की सभी श्रेणियों में चार पैसे प्रति किलोमीटर की बढ़ोतरी की गई है। यह किराया एक जनवरी 2020 से प्रभावी होगा। हालांकि पूर्व में टिकट बुक करा चुके यात्रियों को अतिरिक्त भुगतान नहीं करना होगा।

रेलवे बोर्ड द्वारा मंगलवार को यहां जारी आदेश के अनुसार आरक्षण शुल्क और सुपरफास्ट शुल्क में कोई बदलाव नहीं होगा और किराए में बढ़ोतरी पहले से बुक किए गए टिकटों पर लागू नहीं होगी। वातानुकूलित (एसी) श्रेणी में एसी चेयरकार, एसी थ्री-टियर, एसी टू-टियर और एसी फर्स्टक्लास के यात्री किराये में सबसे अधिक चार पैसा प्रति किलोमीटर की बढ़ोत्तरी की गई है।

मेल और एक्सप्रेस नॉन-एसी के सेकेंड क्लास, स्लीपर और फर्स्ट क्लास के यात्री किराया दो पैसा प्रति किलोमीटर बढ़ाया है।इसके अलावा साधारण गैर-एसी और गैर-उपनगरीय सेवाओं के किराए में एक पैसे प्रति किमी की दर से बढ़ोत्तरी की गई है। वहीं सबबर्न और सीजन टिकट (सबबर्न और नॉन-सबबर्न) ट्रेनों के यात्री किराये में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है।

ऑर्डिनरी नॉन-एसी (नॉन-सबबर्न) के सेकेंड क्लास, स्लीपर और फर्स्ट क्लास के यात्री किराये में एक पैसा प्रति किलोमीटर की बढ़ोत्तरी की गई है।राजधानी, शताब्दी, दुरंतो, वंदेभारत, तेजस, हमसफर, गतिमान, अंत्योदय, गरीब रथ, जनशताब्दी, राज्यरानी, युवा एक्सप्रेस, सुविधा जैसी प्रीमियम रेलगाड़ियां भी किराया वृद्धि में शामिल हैं।उदाहरण के लिए दिल्ली-कोलकाता राजधानी जो 1,447 किलोमीटर की दूरी तय करती है, 4 पैसे प्रति किलोमीटर के हिसाब से यात्रियों को अब लगभग 58 रुपये अतिरिक्त चुकाने होंगे।

नए साल में यात्रियों को रेल यात्रा के दौरान अपनी जेब और ढीली करनी पड़ेगी। रेलवे ने यात्रियों की जेब पर और भार डालते हुए किराए में बढ़ोत्तरी कर दी है। इसके तहत स्लीपर श्रेणी का किराया दो पैसा प्रतिकिलोमीटर और एसी की सभी श्रेणियों में चार पैसे प्रति किलोमीटर की बढ़ोतरी की गई है। यह किराया एक जनवरी 2020 से प्रभावी होगा। हालांकि पूर्व में टिकट बुक करा चुके यात्रियों को अतिरिक्त भुगतान नहीं करना होगा।

रेलवे बोर्ड द्वारा मंगलवार को यहां जारी आदेश के अनुसार, आरक्षण शुल्क और सुपरफास्ट शुल्क में कोई बदलाव नहीं होगा और किराए में बढ़ोतरी पहले से बुक किए गए टिकटों पर लागू नहीं होगी।

वातानुकूलित (एसी) श्रेणी में एसी चेयरकार, एसी थ्री-टियर, एसी टू-टियर और एसी फर्स्टक्लास के यात्री किराये में सबसे अधिक चार पैसा प्रति किलोमीटर की बढ़ोत्तरी की गई है। वहीं मेल और एक्सप्रेस नॉन-एसी के सेकेंड क्लास, स्लीपर और फर्स्ट क्लास के यात्री किराया दो पैसा प्रति किलोमीटर बढ़ाया है।

इसके अलावा साधारण गैर-एसी और गैर-उपनगरीय सेवाओं के किराए में एक पैसे प्रति किमी की दर से बढ़ोत्तरी की गई है। वहीं सबबर्न और सीजन टिकट (सबबर्न और नॉन-सबबर्न) ट्रेनों के यात्री किराये में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है।

ऑर्डिनरी नॉन-एसी (नॉन-सबबर्न) के सेकेंड क्लास, स्लीपर और फर्स्ट क्लास के यात्री किराये में एक पैसा प्रति किलोमीटर की बढ़ोत्तरी की गई है। राजधानी, शताब्दी, दुरंतो, वंदेभारत, तेजस, हमसफर, गतिमान, अंत्योदय, गरीब रथ, जनशताब्दी, राज्यरानी, युवा एक्सप्रेस, सुविधा जैसी प्रीमियम रेलगाड़ियां भी किराया वृद्धि में शामिल हैं। उदाहरण के लिए दिल्ली-कोलकाता राजधानी जो 1,447 किलोमीटर की दूरी तय करती है, 4 पैसे प्रति किलोमीटर के हिसाब से यात्रियों को अब लगभग 58 रुपये अतिरिक्त चुकाने होंगे।

,
Shares