web page hit counter

मप्र राज्य खाद्य आयोग के सदस्य चौहान ने की योजनाओं के क्रियान्वयन तथा प्रगति की समीक्षा

प्रत्येक पात्र हितग्राही तक पहुंचे योजनाओं का लाभ – चौहान

सीहोर, 04 अक्टूबर 2021,

मध्यप्रदेश राज्य खाद्य आयोग के सदस्य वीर सिंह चौहान ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में स्थानीय जनप्रतिनिधियों, हितग्राहियों और अधिकारियों की बैठक आयोजित कर जिले में विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन एवं प्रगति के संबंध में चर्चा की। बैठक में चौहान ने जनप्रतिनिधियों, राशन दुकान संचालकों तथा स्वसहायता समूह के सदस्यों से योजनाओं का फीड बैक भी लिया।

मप्र राज्य खाद्य आयोग के सदस्य चौहान ने कहा कि सरकार द्वारा लोगों के कल्याण एवं विकास के लिए अनेक योजनाएं संचालित की जा रही हैं। इन योजनाओं का लाभ प्रत्येक पात्र व्यक्ति तक पहुंचे, यह सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने जनप्रतिनिधियों से कहा कि वे भी अपने क्षेत्र में भ्रमण के दौरान लोगों से योजनाओं के क्रियान्वयन एवं लाभ मिलने के संबंध में जानकारी लें। आयोग के सदस्य चौहान ने बैठक में उपस्थित हितग्राहियों से भी चर्चा करते हुए योजनाओं का लाभ मिलने के संबंध में जानकारी ली।

बैठक में चौहान ने खाद्य विभाग की समीक्षा के दौरान लक्षित सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत हितग्राहियों को निर्धारित मात्रानुसार नियमित खाद्यान्न प्रदाय किया जाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। जिला आपूर्ति अधिकारी शिव कुमार तिवारी ने बताया कि जिले में कुल 375 शासकीय उचित मूल्य दुकानें हैं जिनके माध्यम से हितग्राहियों को खाद्यान्न प्रदाय कराया जा रहा है। इनमें 42 दुकानो महिला स्वसहायता समूह द्वारा संचलित की जा रही है। जिले के 184216 परिवारों को निःशुल्क राशन वितरण किया जा रहा है।

महिला बाल विकास विभाग की समीक्षा के दौरान आयोग के सदस्य चौहान ने ऑगनबाड़ी केन्द्रों तथा संचालित होने वाले विभागीय गतिविधियों की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा बच्चों, गर्भवती महिलाओं एवं धात्री माताओं के लिए विभिन्न योजनाएं संचालित की जा रही है। इन योजनाओं, कार्यक्रमों का लाभ प्रत्येक पात्र हितग्राहियों को दिया जाए। चौहान ने जिले में संचालित शासकीय शालाओं, छात्र-छात्राओं की संख्या तथा मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम के तहत वितरित किए जा रहे खाद्यान्न, सूखा अनाज वितरण के संबंध में भी जानकारी ली।

बैठक में महिला बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी प्रफुल्ल खत्री ने बताया कि जिले में कुल 1415 आंगनबाड़ी केन्द्र संचालित हैं। जिनके माध्यम से गर्भवती महिलाओं, धात्री माताओं तथा बच्चों को पोषण आहार वितरित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि रेडी-टू-ईट के तहत जिले में 3 वर्ष से 6 वर्ष के पंजीकृत कुल 42538 हितग्राहयों को प्रतिदिवस के मान से निर्धारित मात्रानुसार सूखा राशन प्रदान किया जाता है। इसी प्रकार 6 माह से 3 वर्ष तक के 38684 बच्चों को टेक हाम राशन दिया जा रहा है। इसी प्रकार जिले में मुख्यमंत्री बाल कल्याण योजना के तहत 24 बच्चों को लाभान्वित किया जा रहा है। प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की समीक्षा के दौरान जानकारी दी गई कि वर्तमान वित्तीय वर्ष में जिले की 5387 महिलाओं को लाभान्वित किया गया है। बैठक में विभिन्न वार्डो के पार्षद, सरपंच, हिताग्राही तथा जिला अधिकारी उपस्थित थे।

बैठक में सीहोर विधायक सुदेश राय ने कुछ गांवों में संचालित राशन दुकानों के विक्रेताओं द्वारा की जा रही गड़बड़ी की ओर ध्यान आकृष्ट कराते हुए उन दूकानों की जांच कर विक्रेतओं के विरूद्ध कार्रवाई करने के लिए कहा। बैठक में पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती अमिता जसपाल अरोरा, सीताराम यादव, राजकुमार गुप्ता तथा अन्य जनप्रतिनिधियों ने वितरण संबंधी शिकायतों, समस्याओं की ध्यान लाते हुए अनेक सुझाव दिए। आयोग के सदस्य चौहान ने जिला अपूर्ति अधिकारी को जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए गए।