बुधनी के थाना प्रभारी का नवाचार: गुलज़ार की ग़ज़ल गाकर लोगों को घरों में रहने की प्रेरणा दी

 

प्रदेश में फैल रहे कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने का एकमात्र तरीक़ा इसकी चेन को तोड़ना है और इस चेन को तोड़ने के लिए प्रशासन की ओर से आमजन को समझाइश दी जा रही है। जहाँ समझाइश नहीं मानी जा रही है वहाँ कार्रवाई भी की जा रही है, लोगों को दिन भर के लिए गिरफ़्तार तक किया जा रहा है और उन्हें अस्थाई जेलों में भी भेजा जा रहा है।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूरे प्रशासन को कोरोना नियंत्रण का लक्ष्य पाने के लिए नवाचार की पूरी तरह छूट भी दे रखी है। और इसी छूट का फ़ायदा उठाते हुए और नवाचार को हक़ीक़त में बदलते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के विधानसभा क्षेत्र बुधनी के थाना प्रभारी ने एक ऐसी पहल की है जिसकी हर तरफ़ चर्चा हो रही है। साथ में सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल भी हो रहा है।

बुधनी के थाना प्रभारी आरएन शर्मा कोरोना से बचने के लिए तरन्नुम में गुलज़ार साहब की ग़ज़ल “बेवजह घर से निकलने की ज़रूरत क्या है” गा रहे हैं।

यह ग़ज़ल सुनने पर ऐसा एहसास होता है जैसे गुलज़ार साहब को पहले ही पता था कि कोरोना वायरस आएगा और लॉकडाउन लगेगा और इस तरह के हालात बनेंगे जहाँ बेवजह घूमने पर रोक लगेगी। बुधनी के थाना प्रभारी आरएन शर्मा ने अपनी टीम को प्रेरित करने के लिए जिस तरह थाना परिसर में यह ग़ज़ल गायी है उससे एक बहुत ही सुंदर मैसेज प्रदेश की जनता के बीच जाता है और आमजन को प्रेरित करता है कि बेवजह घर से निकलने की ज़रूरत क्या है!
सुनिए तो ज़रा…बहुत उम्दा शर्माजी

,
Shares