छग : इन IAS-IPS पर भ्रष्टाचार के गंभीर मामले,ढाई सालो में 44 मामले ACB-EOW में दर्ज

 

 

रायपुर।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोमवार को विधानसभा में बताया कि पिछले ढाई सालों में एंटी करप्शन ब्यूरो और आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो को 20 आईएएस और आईपीएस के खिलाफ 44 शिकायतें प्राप्त हुई है। उन्होंने बताया कि 2 पूर्व मुख्य सचिव विवेक ढांड और आरपी मंडल समेत 10 आईएएस और 7 आईपीएस अफसर के खिलाफ जांच चल रही है। आईपीएस मुकेश गुप्ता के खिलाफ आधा दर्जन से ज्यादा और जेपी सिंह के खिलाफ 4 मामले लंबित हैं। छह मामलों में चार अफसरों के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध किए गए हैं। कांग्रेस विधायक सत्यनारायण शर्मा की आतंकी प्रश्नों के जवाब में मुख्यमंत्री ने यह जानकारी दी।

मुख्यमंत्री बघेल ने बताया कि 3 शिकायतों को जांच के बाद पंजीबद्ध कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि 1 जनवरी 2018 से लेकर 30 जून 2021 तक ब्यूरो में पहुंचे शिकायतों के आधार पर जिन आईएएस अफसरों के खिलाफ जांच चल रही है उनमें पूर्व चीफ सेक्रेटरी विवेक ढांड, आरपी मंडल, संचालक समाज कल्याण संजय अलंग, आयुक्त नगर निगम भिलाई के एल चौहान ,आईएएस राजेश सुकुमार टोप्पो, प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी, सचिव पीएससी श्रीमती पुष्पा साहू, संचालक माटी कला बोर्ड सुधाकर खलखो, आईएस राजेश सिंह राणा, सचिव आदिम जाति कल्याण डीडी सिंह शामिल है।
मुख्यमंत्री ने बताया कि ब्यूरो को ढाई सालो में मिली शिकायतों के आधार पर जिन आईपीएस अफसरों के खिलाफ जांच चल रही है उनमें मुकेश गुप्ता, मनीष शर्मा, रजनेश सिंह ,केसी अग्रवाल,अरविंद कुजूर, संतोष कुमार सिंह और जीपी सिंह शामिल है। श्री बघेल ने बताया कि ब्यूरो में अकेले मुकेश गुप्ता के खिलाफ आधा दर्जन से ज्यादा जांच लंबित है। इसी तरह मनीष शर्मा के खिलाफ भी कई जांच चल रही है। जीपी सिंह के खिलाफ भी चार जांच चल रही है।

,
Shares