कोरोना वायरस के सबसे खास लक्षण, रोगी को होती हैं ये परेशानी

 

कोरोना वायरस अब तक तकरीबन 6 लाख लोगों को अपना शिकार बना चुका है. दुनियाभर के वैज्ञानिकों का कहना है कि कोरोना वायरस के लक्षण आम सर्दी जुकाम से इतने मिलते-जुलते हैं कि इसके रोगियों की पहचान करना बड़ा मुश्किल है. इसी वजह से लोग तेजी से इसकी चपेट में आ रहे हैं. हालांकि WHO ने अभी तक इसके जो लक्षण बताए हैं उसके जरिए आप मरीज में इस जानलेवा वायरस की पहचान कर सकते हैं.

 

. कोरोना वायरस की चपेट में आने के बाद पहले 5 दिनों में इंसान को सूखी खांसी आनी शुरू हो जाती है और फेफड़ों में तेजी से बलगम बनना शुरू हो जाता है.

 

. मरीज को तेज बुखार चढ़ने लगता है और उसके शरीर का तापमान काफी ज्यादा बढ़ जाता है. अब तक कई हेल्थ एक्सपर्ट कोरोना वायरस में तेज बुखार चढ़ने का दावा कर चुके हैं.

 

. कोरोना वायरस का शिकार होने के बाद पहले 5 दिनों में मरीज को सांस लेने में तकलीफ होने लगती है. उम्रदराज रोगियों में सांस फूलने की समस्या ज्यादा देखी गई है.

कई मामलों में कोरोना वायरस के पीड़ितों ने बदन दर्द की समस्या का भी जिक्र किया है. उन्होंने बताया कि इस वायरस की चपेट में आने के बाद शरीर के जोड़ काफी दुखने लगते हैं.

. मांसपेशियों में दर्द के साथ-साथ शरीर टूटा-टूटा रहने लगता है और थकावट महसूस होने लगती है.

. इसके अलावा कई रोगियों ने बताया कि इस बीमारी में रहते हुए उनके गले में काफी ज्यादा दर्द रहता था. ये दर्द इतना ज्यादा था कि उनके गले में सूजन तक आ गई थी.

. कोरोना वायरस के रोगियों की नाक से हमेशा पानी बहता रहता है, ये बिल्कुल मौसमी फ्लू या सर्दी लगने जैसा लक्षण है.

. कोरोना वायरस के कई रोगियों ने यह भी दावा किया कि इस बीमारी की चपेट में आने के बाद वे जुबान से स्वाद के जायके को पहचानने की शक्ति खो बैठते हैं.

. चीन और अमेरिका में सामने आए कई रोगियों ने कान में दबाव होने की बात भी स्वीकर की. उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस से पीड़ित रहते हुए उन्होंने कानों में दबाव जैसा कुछ महसूस किया था.

,
Shares