इस प्रदेश में स्कूल-हॉस्टल मदद के लिए आए सामने, बनेंगे क्वारंटाइन सेंटर

 

 

इस प्रदेश में स्कूल-हॉस्टल मदद के लिए आए सामने, बनेंगे क्वारंटाइन सेंटर

कोरोना वायरस के बढ़ते कहर के कारण कर्नाटक सरकार ने जिला प्रशासन से कहा है कि वह समाज कल्याण विभाग के तहत आने वाले आवासीय विद्यालयों और हॉस्टल को क्वारंटाइन सेंटर में बदल दिया जाए.
राज्य सरकार ने कहा, हमारे देश में कोरोना वायरस के तेजी से प्रसार के कारण यह कदम उठाया जा रहा है.. वायरस के प्रसार को सीमित करने के लिए 15 अप्रैल, 2020 तक स्कूलों और कॉलेजों को बंद कर दिया गया है. आपको बता दें, भारत में कोरोना वायरस मरीजों की संख्या 800 से पार हो चुकी है.

कर्नाटक के उप मुख्यमंत्री गोविंद करजोल ने एक बयान में कहा, “जहां भी आवश्यक हो, इन आवासीय विद्यालयों और हॉस्टल को जिला प्रशासन द्वारा बिना किसी अतिरिक्त लागत के क्वारंटाइन सेंटर के रूप में परिवर्तित किया जा सकता है..
आपको बता दें, देश में तेजी से कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़ रही है, ऐसे में देश के सभी केंद्रिय विद्यालय को भी आइसोलेशन सेंटर में बनाया जाएगा. इससे पहले मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने देश में नवोदय विद्यालयों को निर्देश दिया था कि वह ऐसे हॉस्टल उपलब्ध कराएं जो खाली हैं. जिनमें कोई छात्र नहीं रह रहा है. ऐसे हॉस्टल को कोरोना वायरस के मरीजों के लिए चिकित्सा सुविधा के रूप में उपयोग किया जाएगा.

,
Shares