MP हनी ट्रैप केस: जीतू सोनी ने सुप्रीम कोर्ट का खटखटाया दरवाजा

 

 

इंदौर के भगौड़े कारोबारी जीतू सोनी ने अपने खिलाफ दर्ज मामलों को फर्जी बताते हुए राहत के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. सोनी के खिलाफ रेप, गैंग रेप, चौथ वसूली और मानव तस्करी जैसे संगीन आरोपों समेत 50 से अधिक मामले दर्ज हैं.

सूत्रों के मुताबिक जीतू सोनी की याचिका पर सोमवार को सुनवाई हो सकती है. सोनी की याचिका का इंदौर पुलिस विरोध करेगी. इंदौर पुलिस इसके लिए सोनी के खिलाफ गंभीर किस्म के आरोपों का हवाला देगी.

इंदौर पुलिस से जुड़े सूत्रों के मुताबिक नोटिस तामील किए जाने के बाद पुलिस पीड़ितों को कोर्ट में पेश करेंगी. इनमें रेप, गैंग रेप और जिस्मफरोशी में जबरन धकेले जाने वालीं पीड़ित शामिल हैं.

बता दें कि इंदौर पुलिस ने दिसंबर के पहले हफ्ते में सोनी के कई ठिकानों जैसे कि अखबार दफ्तर, डॉन्स बार और होटल पर छापे मारे थे. ये कार्रवाई तब की गई थी जब सोनी ने हनी ट्रैप केस को लेकर वीडियो और बातचीत की ट्रांसक्रिप्ट को अपने यू-ट्यूब चैनल और अखबार में प्रकाशित करना शुरू कर दिया था
मध्य प्रदेश पुलिस ने हनी ट्रैप केस में पांच महिलाओं समेत छह लोगों को गिरफ्तार किया था. इन पर आरोप है कि उन्होंने टॉप राजनेताओं, नौकरशाहों और पुलिस अधिकारियों को बीते साल सितंबर में हनी ट्रैप में फंसाकर रकम वसूलने की साजिश रची.

इंदौर पुलिस ने सोनी के खिलाफ 50 से अधिक मामले दर्ज करने के साथ ही लुक आउट नोटिस जारी किया है. हनी ट्रैप केस की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है. जांच मध्य प्रदेश हाईकोर्ट की निगरानी में हो रही है.
इंदौर पुलिस सोनी के घर, अखबार दफ्तर, और होटल समेत कई इमारतों को अवैध निर्माण की वजह से ध्वस्त कर चुकी है. सोनी के भगौड़ा घोषित होने के बाद पुलिस ने उसकी 11 संपत्तियों को ज़ब्त करने की कार्रवाई शुरू की है. सोनी का सुराग देने वाले को एक लाख रुपए का इनाम देने का एलान भी किया गया है.

,
Shares