coronavirus:महाराष्ट्र में एक हफ्ते के लिए सभी सरकारी दफ्तर बंद

नई दिल्ली: कोरोना वायरस संक्रमण से अब तक देशभर में 3 मौते हो चुकी हैं और लगभग 137 लोग इस संक्रमण से पीड़ित हैं. क्या घर, क्या बाजार, क्या मंदिर, क्या स्कूल-कॉलेज, क्या रेलवे स्टेशन और क्या एयरपोर्ट लेकर देशभर में सतर्कता बरती जा रही है. एहतियात के चलते कई राज्यों में स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए हैं. विदेशों से आने वाले लोगों की जानकारी साझा करना अनिवार्य कर दिया गया है. एयरपोर्ट, बस अड्डा, रेलवे स्टेशन, धार्मिक स्थलों पर खास सतर्कता बरती जा रही है. वहीं कई शहरों में मॉल और सिनेमाघरों तक को बंद कर दिया गया है.

कोरोना वायरस से बचने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने 7 दिनों के लिए सभी सरकारी दफ्तरों को बंद करने का ऐलान किया है। देशभर में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 129 है जबकि 3 लोगों की मौत भी हो चुकी है। महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 39 लोग कोरोना से संक्रमित हैं और 1 लोग की मौत भी हो चुकी है।कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुंबई में नेहरू विज्ञान केंद्र 16 से 31 मार्च 2020 तक आगंतुकों के लिए बंद रहेगा। कोरोना वायरस से संक्रमित मुम्बई के 64 वर्षीय एक व्यक्ति की मंगलवार को मौत हो गई। महाराष्ट्र में कोविड-19 से मौत का यह पहला मामला है। बीएमसी प्रमुख प्रवीण परदेशी ने बताया कि मृतक का मुम्बई के सरकारी कस्तूरबा अस्पताल में इलाज चल रहा था। कोरोना वायरस से संक्रमित होने के अलावा उसको स्वास्थ्य संबंधी अन्य समस्याएं भी थीं। इससे पहले स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया था कि महाराष्ट्र में कोरोना वायरस से एक व्यक्ति की मौत हो गई। भारत में इस वायरस के संक्रमण से मरने वालों की संख्या तीन हो गई है। कोरोना वायरस के मद्देनजर एहतियात बरतते हुए महाराष्ट्र राज्य निर्वाचन आयोग ने मंगलवार को राज्य में निकाय चुनाव की तारीख को अगले आदेश तक स्थगित करने का फैसला लिया। राज्य निर्वाचन आयुक्त यूपीएस मदन ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे को देखते हुए चुनाव स्थगित किए गए हैं। निर्वाचन आयोग ने चुनाव से संबंधित प्रक्रिया को भी स्थगित कर दिया है।

,
Shares