12 हजार पुलिस जवानों की भर्ती की जाएगी : शिवराज सिंह

इंदौर। यह भवन पुलिस के जवानों के लिये ही नहीं वरन उन भांजे-भांजियों के लिये बना रहे हैं जो अपने पिता-पुत्र,भाई-बहन आदि को पुलिस की नौकरी के माध्यम से समाजसेवा के लिये क्रियाशील और उर्जावान रखते हैं। एक पुलिस जवान जब जागता है तब समाज का प्रत्येक व्यक्ति त्यौहार,शादी समारोह आदि शांतिपूर्वक तरीके से मना पाता है, समाज चैन से तब सो पाता है, जब पुलिस जवान रात्रि में जागकर गश्त करता है। सेवा का इससे बड़ा उदाहरण नहीं है।

यह बात मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने पुलिस हाउसिंग बोर्ड कार्पोरेशन के महेश गार्ड लाइन स्थित 15वीं बटालियन में आयोजित भूमिपूजन कार्यक्रम में कही।

सीएम ने कहा कि पुलिस जवान की सतर्कता से ही समाज में शांति, व्यवस्था और कानून-व्यवस्था बनी रहती है। मध्यप्रदेश की पुलिस ने अभूतपूर्व कार्य किये हैं। इसमें सबसे प्रमुख कार्य चम्बल के बीहड़ों को डाकू विहीन कर विकास के नये मार्ग तैयार करना हैं। अब चम्बल में डाकू नहीं विकास का रोडमैप तैयार हो रहा है। मध्यप्रदेश पुलिस की यह सबसे बड़ी सफलता है कि मध्यप्रदेश में नक्शलवाद को फैलने नहीं दिया और नक्सलियों को मध्यप्रदेश की सीमा के बाहर ही रोक दिया है। सिमी जैसे आंतकवादी संगठनों के नेटवर्क को ध्वस्त किया है।

कार्यक्रम में वन मंत्री गौरीशंकर शेजवार, महापौर मालिनी लक्ष्मणसिंह गौड़, मध्यप्रदेश हाउसिंग बोर्ड के चेयरमेन कृष्णमुरारी मोघे उपस्थित रहे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस के जवान प्रदेश में शांति और कानून व्यवस्था बनाये रखने में अपना योगदान दे रहे हैं। उनके परिवार के लिये आवास व अन्य सुविधाओं को उपलब्ध कराने का कार्य मध्यप्रदेश सरकार का है, इसके लिये मध्यप्रदेश सरकार निरंतर प्रयास कर रही है। पुलिस जवानों के लिये 25 हजार मकान स्वीकृत किये गये हैं, दो वर्ष में ही यह 15 मंजिला इमारतें तैयार की जायेंगी । पूरे आधुनिक तरीके से इन इमारतों का निर्माण किया जा रहा है। इसमें सर्वसुविधायुक्त व्यवस्था भी उपलब्ध रहेगी।

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने पुलिस जवान के बेटे-बेटियों को सम्बोधित करते हुये कहा कि जवान के सभी बेट-बेटी मन लगाकर पढ़ाई करें। पढ़ाई में किसी प्रकार का व्यवधान आने पर वे सीधे मुझसे सम्पर्क करें। उनकी हर समस्यायें हल होंगी। उनकी उच्च स्तर पढ़ाई के लिये आवश्यकता होने पर सरकार संसाधन के साथ-साथ राशि भी उपलब्ध कराने के प्रयास करेगी।

कार्यक्रम में पुलिस महानिदेशक ऋषि शुक्ला ने पुलिस परिवार के लिये 25 हजार मकान स्वीकृत कराने के लिये मुख्यमंत्रीका धन्यवाद दिया । कार्यक्रम में पुलिस हाउसिंग बोर्ड के महानिदेशक सरबजीतसिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश में पहली बार 15 माले की बहुमंजिला इमारत का निर्माण इंदौर में किया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट के माध्यम से 944 मकान पुलिस को उपलब्ध कराये जायेंगे। यह प्रोजेक्ट पूरी तरह इकोफ्रेण्डली है, जिसमें सौर उर्जा के माध्यम से विद्युत सप्लाई की व्यवस्था की जायेगी। यह प्रोजेक्टर दो वर्ष में पूर्ण होगा, इससे पुलिस जवानों की आवासी समस्या को हल करने में मदद मिलेगी।

पुलिस हाउसिंग बोर्ड इस वर्ष 25 हजार से अधिक मकान बनाने के लिये तैयारी कर रहा है। इसका टर्नओवर 540 करोड़ रुपये से भी अधिक है। इंदौर में मुख्यमंत्री पुलिस आवास योजना अंतर्गत मोनोलेथिक शियर वॉल टेक्नालॉजी का प्रयोग प्रथम बार किया जा रहा है। इसमें आईआईटी विद्यार्थियों की भी मदद ली गयी।

 

,
Shares