सीएए से नहीं जाएगी किसी मुस्लिम भाई-बहन की नागरिकता:अमित शाह

भुवनेश्वर,  केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने विपक्ष को चुनौती देते हुए कहा कि वो बताएं कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) की किस धारा में नागरिकता छिनने का प्रावधान है। सीएए से देश के किसी मुस्लिम भाई-बहन की नागरिकता नहीं जाएगी।

भुवनेश्वर में शुक्रवार को पार्टी द्वारा आयोजित एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि देश के विभाजन के बाद लाखों लोग पाकिस्तान में रह गए। उनका धर्म परिवर्तन किया जा रहा है। बहन-बेटियों को जबरदस्ती उठाकर निकाह कराया जा रहा है। उन्होंने सवाल किया कि स्वधर्म को बचाने के लिए आए लोगों को भारत की नागरिकता मिलनी चाहिए या नहीं मिलनी चाहिए।गृहमंत्री ने कहा कि सीएए को लेकर विपक्ष झूठ बोल रहा है और लोगों को भ्रमित करने का प्रयास कर रहा है। संसद में प्रधानमंत्री व उन्होंने स्वयं आश्वस्त किया कि इसमें किसी के नागरिकता नहीं जाने वाली। यह नागरिकता छीनने वाला नहीं बल्कि नागरिकता देने वाला कानून है। उन्होंने कहा कि 50 के दशक में कांग्रेस नेतृत्व ने जो संकल्प किया था, उसे मोदी सरकार ने पूरा किया है। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी, पंडित नेहरू, सरदार पटेल और मौलाना आजाद जैसे नेताओं ने जो वचन दिया था, उसे मोदी सरकार ने पूरा किया है। उन्होंने कहा कि विपक्ष के लोग भ्रांति फैला रहे हैं। लोगों को उकसा रहे हैं। इस मौके पर उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यकों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि किसी की नागरिकता नहीं जाएगी। प्रधानमंत्री मोदी ने इस कानून के जरिेए मानवाधिकारों की रक्षा की है।

अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस ने 55 सालों के राज में पूर्वी भारत के लिए जो किया, उससे अधिक विकास प्रधानमंत्री मोदी के कार्यकाल में हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था करने के साथ विश्व के पहले तीन अर्थव्यवस्था वाले देशों में शामिल होने के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने 55 साल के शासन में भारत की अर्थव्यवस्था को 11 नंबर पर छोड़ा था। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने साढ़े पांच साल के कार्यकाल में इसे छह अंक ऊपर उठाकर पांचवें नंबर पर पहुंचाया है।

शाह ने कहा कि 70 सालों से लंबित मुद्दों पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दृढ नेतृत्व के साथ काम किया। अनुच्छेद 370 के कारण कश्मीर को भारत से दूर रखा गया था। पांच अगस्त 2019 को सरकार ने अनुच्छेद 370 हटाकर कश्मीर को भारत का मुकुट बनाया। जब भी राम मंदिर का मुद्दा आता था तो कांग्रेस इसे टालने की कोशिश करती थी। प्रधानमंत्री मोदी ने श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट बनाकर भगवान राम के जन्मस्थान पर भव्य मंदिर के निर्माण का कार्य प्रशस्त किया है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की दूसरी पारी में यह निर्णय लिया गया कि देश के हर किसी के घर में पाइप के जरिए शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराया जाएगा। 2024 तक ओडिशा के प्रत्येक घर में पानी पहुंचाया जाएगा।

इस दौरान गृहमंत्री ने ओडिशा की जनता को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में भाजपा को 91 लाख मत प्राप्त हुए, जबकि बीजद को एक करोड़ एक लाख वोट मिले। उन्होंने कहा कि भाजपा को केवल एक बड़ी छलांग लगाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि ओडिशा की जनता के आशीर्वाद से भाजपा का कार्यकर्ता प्रतिपक्ष का नेता बना है। उन्होंने कहा कि नवीन पटनायक को जनादेश मिला है। उनसे आग्रह है कि मोदी सरकार द्वारा गरीबों को लिए दी जा रही धनराशि को सही मंशा के साथ लोगों तक पहुंचाएं।

,
Shares