मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा बैतूल जिले के बिसनूर में उदवहन सिंचाई परियोजना का शिलान्यास

 

 

 

भोपाल : गुरूवार, मार्च 9, 2017,/मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि ‘नमामि देवि नर्मदे’-सेवा यात्रा के जरिये नर्मदा नदी के संरक्षण और संवर्धन के लिये जो अभियान चलाया जा रहा है, ऐसा ही अभियान ताप्ती नदी को संरक्षित और प्रदूषणमुक्त करने के लिये अगले साल से चलाया जायेगा। श्री चौहान आज बैतूल जिले के ग्राम बिसनूर में 382 करोड़ 29 लाख की लागत से बनने वाली पारसडोह मध्यम उदवहन सिंचाई परियोजना का शिलान्यास कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि परियोजना के निर्माण से क्षेत्र के किसानों की एक बड़ी आवश्यकता पूरी होगी। उन्होंने कहा कि खेतों में सुलभता से पानी मिलेगा और किसानों का उत्पादन बढ़ेगा। सरकार का प्रयास है कि प्रदेश का हर जिला फसल उत्पादन में अग्रणी हो। उन्होंने कहा कि परियोजना की शुरूआत में 30 गाँव को सिंचाई का लाभ मिलेगा। जो गाँव छूट गये हैं, उन्हें दूसरे चरण में जोड़ा जायेगा। परियोजना में 200 गाँव में पेयजल के लिये पाइप लाईन बिछाई जायेगी। मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश के सभी गाँव में पेयजल समस्या को दूर करने के लिये सरकार द्वारा हेण्डपम्प के स्थान पर नल-जल योजना स्थापित करने पर जोर दिया जा रहा है। प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना में हर जरूरतमंद को मकान और जमीन दी जा रही है।

मुख्यमंत्री ने बताया कि ताप्ती सेवा अभियान में नदी के किनारे पौधे लगाकर जल-स्रोतों को बढ़ाया जायेगा और प्रदूषण खत्म करने का काम किया जायेगा। नदी को सदानीरा बनाने के लिये बैराज बनाये जायेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि बैतूल जिले की आवश्यकता को देखते हुए बंधा एवं बारंगवाड़ी डेम निर्माण का भी सर्वे किया जायेगा।

मुख्यमंत्री ने 3693 हितग्राहियों को कपिलधारा, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास और प्रधानंत्री फसल बीमा योजना के हितलाभ वितरित किये। मुख्यमंत्री ने स्व-रोजगार योजना में ऑटोमेटिक लाण्ड्री के लिये 20 लाख और पशु आहार उत्पादन के लिये 17 लाख रूपये का चेक हितग्राही को सौंपा। उन्होंने अनुश्रवण और जन-संवाद, जनता का अधिकार तथा नि:शक्त विवाह योजना पर केन्द्रित पुस्तिका का विमोचन भी किया। शुरूआत में मुख्यमंत्री ने कन्या-पूजन किया।

,
Shares