मुख्यमंत्री शिवराज के बयान से भाजपा की अंदरूनी सियासत में भूचाल

 

 

 

 

भोपाल : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पिछले दिनों अटेर की एक चुनावी सभा में सिंधिया परिवार को लेकर दिए गए बयान से भाजपा की अंदरूनी सियासत में भूचाल आ गया है। राजमाता विजयाराजे सिंधिया की बेटी और प्रदेश सरकार में मंत्री यशोधरा राजे द्वारा कल सीएम के बयान के बाद दी गई प्रतिक्रिया के बाद आज भाजपा की पुरानी पीढ़ी के वरिष्ठ नेताओं ने कहा कि यशोधराराजे ने जो पीड़ा व्यक्त की है वह गलत नहीं बल्कि स्वभाविक है। पूर्व सांसद और पार्टी में विभिन्न पदों पर रहे रघुनंदन शर्मा और पांच बार के सांसद और पूर्व मंत्री सरताज सिंह ने यशोधरा की बातों पर सहमति जताई है। पूर्व सांसद रघुनंदन शर्मा ने कहा कि राजमाता सिंधिया ने जो भाजपा के लिए किया उसे कभी भुलाया नहीं जा सकता। उन्होंने पार्टी को खड़ा करने में धन के साथ अपना खून-पसीना भी लगा दिया था। लगातार दौरे कर प्रदेश में पार्टी के विस्तार के लिए उन्होंने जो मेहनत की वह आज के कार्यकर्ताओं के लिए प्रेरणादायी है। उन्होंने कहा कि पार्टी को हर तरह से राजमाता ने सींचा है। उनका योगदान भाजपा में अभूतपूर्व है, यह पार्टी के सभी नेता अच्छे से जानते हैं। उन्होंने कहा कि राजमाता का पार्टी में सम्मान होना चाहिए। यशोधरा के बयान को लेकर उनका कहना था कि उनकी पीड़ा स्वभाविक है। उनकी मां ने पार्टी खड़ी की है जब उनके परिवार को लेकर किसी तरह की बातें की जाएंगी तो पीड़ा होना लाजिमी है। इसमें गलत कुछ भी नहीं है। हमें राजमाता के पार्टी के प्रति किए गए त्याग को सदैव याद रखना चाहिए।

हर तरह से की पार्टी की मदद
पूर्व मंत्री सरताज सिंह ने कहा कि कई अवसरों पर मुझे राजमाता के साथ रहने का सौभाग्य मिला है। मैंने उनकी कार्यशैली को नजदीक से देखा है। आज पार्टी में कई नेता ऐसे हैं जो राजमाता के कारण ही पार्टी से जुड़े थे। यशोधरा के बयान को लेकर सरताज ने कहा कि उनके परिवार के बारे में जब कोई बात कही जाएगी तो उन्हें पीड़ा होना स्वभाविक है। उनकी मां ने ही प्रदेश में पार्टी को इस मुकाम पर पहुंचाया है। वे भाजपा के संस्थापकों में से एक थीं हम उनके योगदान को कैसे विस्मृत कर सकते हैं।

,
Shares