मसूरी: आइटीबीपी के जवानों ने किया 500 पर्यटकों का रेस्क्यू

देहरादून, पहाड़ों की रानी मसूरी सहित प्रदेश के उच्च क्षेत्रों में शनिवार को साल की पहली बर्फबारी हुई। इससे सुआखोली मसूरी मार्ग पर जाम में फंसे 500 पर्यटकों को आइटीबीपी के जवानों ने रेस्क्यू कर उन्हें सुरक्षित बाहर निकाला जबकि रविवार को निकली धूप से कड़ाके की ठंड और यातायात में से थोड़ी राहत मिली।

हालांकि दोपहर बाद आसमान में बादल आने से मौसम में ठंड बढ़ गयी। मौसम विभाग का कहना है कि प्रदेश में 6 से आठ जनवरी को बारिश और बर्फबारी के आसार हैं। सड़कों पर बर्फ से बढ़ी फिसलन यातायात के चुनौती बना हुआ है। मसूरी सहित अन्य स्थानों पर जवानों और स्थानीय पुलिस प्रशासन की ओर से यातायात चलाने के लिए कड़ी मशक्कत की गई। फिर भी पर्यटकों को जाम से जूझना पड़ा।

शनिवार देर रात बर्फबारी से सुआखोली मसूरी मार्ग बाधित होने से सैकड़ों लोग फंस गए। सड़कों पर जमी बर्फ से वाहन इतना फिसल गया कि मार्ग पर चलना खतरों से भरा रहा। भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल (आइटीबीपी) के जवानों ने 500 से अधिक ज्यादा लोगों को रेस्क्यू किया। यहां फंसे जवानों को रेस्क्यू के साथ ही सड़क से जमे बर्फ को हटाने के लिए जवानों ने कड़ी मशक्त में जुटे हुए हैं।

पहाड़ों की रानी मसूरी सहित बारिश और बर्फबारी के मौसम की बदली रंगत के बीच बाद रविवार को देहरादून समेत काशीपुर, हल्द्वानी, रानीखेत, पंतनगर, चंपावत, हरिद्वार, रुड़की, ऋषिकेश, चमोली, रुद्रप्रयाग और उत्तरकाशी में भी धूप निकलने से स्थानीय लोगों व पर्यटकों को ठंड से राहत मिली। पहाड़ी क्षेत्रों मसूरी, धनोल्टी, सुरकंडा, चकराता समेत आसपास की ऊंची चोटियों में हुई बर्फबारी से राज्य में ठंड और गलन से लोगों को यातायात को ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। धनौल्टी मार्ग, कैम्पटी मार्ग सहित कई संपर्क मार्गों पर पर्यटक फंस गए हैं। रात को काफी मात्रा में पाला भी पड़ रहा है। इससे रास्ते में बर्फ पिघलने से फिसलन के साथ गलन भी बढ़ गई है। अभी भी कई जगह अभी बर्फ जमी हुई है।

रविवार को छुटृी के दिन होने के कारण भी बर्फबारी का आनंद लेने के लिए लोगों का काफिला मसूरी की ओर चलने से मसूरी और आसपास में यातायात व्यवस्था चरमरा से पर्यटकों की मुश्किलें बढ़ गई। शनिवार को मसूरी में भीड़ देखते हुए पुलिस ने कुठालगेट से आगे रास्ता वाहनों की आवाजाही के लिए बंद कर दिया गया है। बर्फबारी के चलते ठंड में भी इजाफा हो गया। मसूरी में बर्फबारी के पिछले सड़कों पर वाहन रपटने लगे। ऐसे में पुलिस को ट्रैफिक रोकना पड़ा।

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि 6 जनवरी से 8 जनवरी तक फिर से प्रदेश में बारिश और बर्फबारी होने की उम्मीद है। देहरादून, पौड़ी, ऊधमसिंह नगर, नैनीताल जिलों के कुछ हिस्सों में ओलावृष्टि की भी संभावना है। बताया कि 7 और 8 को मसूरी सहित पहाड़ी क्षेत्रों में कोल्ड डे रहेगा, जबकि 9 जनवरी से मौसम में सुधार की नजर आ रही है।

,
Shares