web page hit counter

भारत में बड़े हमले कर सकता है ISIS खुरासान, राइट विंग के नेता और मंदिर निशाने पर

खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक, आईएस के निशाने पर राइट विंग लीडर्स, मंदिर, पश्चिमी देशों के ठिकाने और भीड़भाड़ वाली जगह शामिल हैं. साथ ही वो विदेशियों को भी निशाना बना सकते हैं.

नई दिल्ली: अफगानिस्तान और पाकिस्तान में सक्रिय आतंकवादी संगठन आईएसआईएस खुरासान भारत में बड़ा धमाका कर सकता है. खुफिया रिपोर्ट के हवाले से ये खुलासा हुआ है. खुफिया एजेंसियों ने हमले का अलर्ट जारी किया है. जानकारी के मुताबिक, आतंकवादी संगठन ISISK के प्रशिक्षित आतंकी भारत में धमाके कर सकते हैं.

राइट विंग लीडर्स  मंदिरों को निशाना बना सकते हैं आतंकी

खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक, आईएस के निशाने पर राइट विंग लीडर्स, मंदिर, पश्चिमी देशों के ठिकाने और भीड़भाड़ वाली जगह शामिल हैं. साथ ही वो विदेशियों को भी निशाना बना सकते हैं. कर्नाटक और कश्मीर में हाल ही में पकड़े गए इस ग्रुप से जुड़े आतंकियों ने पूछताछ में इस बात की पुष्टि की है कि वो अफगानिस्तान पाकिस्तान में आईएस ऑपरेटर के संपर्क में थे. पूछताछ में ये भी खुलासा हुआ है कि आईएस नेटवर्क के धमाकों की साजिश में ये भी शामिल हो सकते हैं.

जानकारी ये भी मिल रही है कि भारत में मौजूद आतंकियों को आईईडी बनाने और छोटे हथियार खरीदने के लिए फंड पहुंचाने की भरोसा भी आतंक के आकाओं ने दिया है.

खुरासान ने काबुल में किया था हमला

बता दें कि अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में बम ब्लास्ट करने की जिम्मेदारी आईएसआईएस खुरासान ने ही ली थी. काबुल ब्लास्ट में एक दर्जन अमेरिकी सैनिकों समेत 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी. ISIS के खुरासान मॉडल की जड़े पाकिस्तान से ही जुड़ी हुई हैं.

ISIS-K के मुखिया का नाम असलम फारूकी है, जो पाकिस्तान के खैबरपख्तूनख्वा प्रांत का रहने वाला है और पहले लश्कर-ए-तैयबा से जुड़ा हुआ था. फारूकी अब तक अफगानिस्तान की बगराम जेल में बंद था, जिसे तालिबानियों ने रिहा कर दिया और रिहा होते ही उसने काबुल एयरपोर्ट पर खूनी साजिश को अंजाम दे दिया.

Shares