भारत महाशक्ति नहीं, विश्वगुरु बनेगा- डॉ. मोहन भागवत

जबलपुर. रूस कभी महाशक्ति था, अमेरिका महाशक्ति रहते हुए अब थोड़ा क्षीण होता नजर आ रहा है और चीन वर्षों से महाशक्ति बनने का प्रयास कर रहा है। अब दुनिया भारत की ओर देख रही है पर भारत कभी महाशक्ति नहीं बनेगा। भारत को तो विश्वगुरु बनना है। सर्वे संतु निरामया के सिद्धांत पर चलना है। पूरा विश्व एक परिवार है इस कल्पना को साकार करना है।
उपरोक्त विचार राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत ने आज यहां चरगवां रोड पर निर्मित दादा वीरेन्द्रपुरी नेत्र संस्थान देवजी नेत्रालय के लोकार्पण अवसर पर व्यक्त किए। कहा कि अपने बंधुओं को दरिद्रता में रखकर अच्छा काम नहीं किया, उन्हें अछूत की संज्ञा दी और इसी का लाभ लेकर मिशनरियों ने सेवा की।यही वजह थी कि राष्ट्र में दुर्बलता प्रवेश कर गई और मुट्ठी भर लोगों ने हमें गुलाम बना लिया। अब भारत की नई यात्रा शुरू हो गई है और इसका पुनरुत्थान हो रहा है।
,
Shares