बाबरी मामला-आडवाणी ,उमा भारती , समेत 13 नेताओं पर साजिश का केस चलेगा: सुप्रीम कोर्ट

 

नई दिल्ली.   अयोध्या में बाबरी मस्जिद का विवादित ढांचा गिराए जाने मामले में लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती समेत बीजेपी के 13 नेताओं पर आपराधिक साजिश का केस चलेगा। सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई की पिटिशन पर यह फैसला सुनाया। कोर्ट ने यह भी कहा है कि इस मामले में चल रहे दो अलग-अलग मामलों को एक कर दिया जाए और रायबरेली में चल रहे मामले की सुनवाई भी लखनऊ में की जाए। सुनवाई दो साल में खत्म हो यह भी सुनिश्चित किया जाए। इस फैसले का किन नेताओं पर असर होगा.. 5 प्वाइंट्स में समझें पूरा मामला…

 

1. सुप्रीम कोर्ट ने क्या फैसला सुनाया?

– सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस पीसी घोष और आरएफ नरीमन की बेंच ने कहा कि लालकृष्ण आडवाणी समेत बीजेपी के 13 नेताओं पर आपराधिक साजिश का केस चल सकता है। रायबरेली और लखनऊ में चल रहे दो केस एक किए जाएं और दोनों केस की सुनवाई लखनऊ में पूरी की जाए। इस मामले की सुनवाई डे-टू-डे हो और दो साल में खत्म की जाए।

– साथ ही सामान्य हालातों में केस की सुनवाई को टाली न जाए। जब तक सुनवाई पूरी न हो तब तक जज का ट्रांसफर नहीं हो सकेगा। केस जिस जगह पर थे, उसी जगह से शुरू होंगे।

– बेंच ने सीबीआई को आदेश दिया कि वह इस बात को सुनिश्चित करे कि विटनेस गवाही के लिए हर तारीख में हाजिर हों। इसके अलावा ट्रायल कोर्ट को आज की तारीख से चार हफ्तों के अंदर सुनवाई शुरू करनी चाहिए।

 

2. किन लोगों पर केस है?

– न्यूज एजेंसी के मुताबिक, लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती, कल्याण सिंह, विनय कटियार, साध्वी ऋतंभरा, सतीश प्रधान, चंपत राय बंसल, विष्णु हरि डालमिया, सतीश प्रधान, आरवी वेदांती, जगदीश मुनी महाराज, बीएल शर्मा, नित्य गोपाल दास, धर्म दास का नाम शामिल है।

– इसके अलावा बाल ठाकरे, गिरिराज किशोर, अशोक सिंघल, महंत अवैद्यनाथ, परमहंस राम चंद्र और मोरेश्वर सावे के नाम भी हैं। इन सभी लोगों का निधन हो चुका है।

 

,
Shares