पूर्व विधायक कल्पना पारुलेकर को एक साल की कैद

भोपाल। जिला अदालत ने पूर्व विधायक कल्पना पारुलेकर को मानहानि के एक मामले में दोषी पाते हुए 1 साल कैद की सजा सुनाई है। इसके साथ ही पारुलेकर पर 2 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है। 5 साल पहले यह केस मध्यप्रदेश विधानसभा के तत्कालीन सचिव भगवानदेव ईसराणी ने दायर किया था। जेएमएफसी संध्या मनोज श्रीवास्तव ने मंगलवार को इस बहुचर्चित केस में फैसला सुनाया।

अभियोजन पक्ष के मुताबिक विधायक रहते हुुए कांग्रेस नेता कल्पना पारुलेकर ने 23 नवंबर 2012 को विधानसभा परिसर में शीत सत्र के दौरान एक प्रेस कान्फ्रेंस की थी। इसमें विधानसभा के तत्कालीन सचिव भगवानदेव ईसराणी पर भ्रष्ट्राचार के 39 आरोप लगाए थे।

इन आरोपों का जिक्र एक 13 पेज की प्रेस विज्ञप्ति में भी किया गया था। इसके साथ ही एक बैनर लगाया था, जिस पर लिखा था ”लोकतंत्र का मंदिर विधानसभा सचिवालय बना भ्रष्टाचार का अड्डा””। इस घटना के खिलाफ ईसराणी ने पारुलेकर को मानहानि का नोटिस दिया।

पारुलेकर ने इस नोटिस का कोई जवाब नहीं दिया। इसके बाद ईसराणी ने जिला न्यायालय में मानहानि का केस दायर किया था। अदालत ने पारुलेकर को उनके द्वारा लगाए गए आरोप सिद्ध करने का मौका दिया, लेकिन पारुलेकर अदालत में ईसराणी के विरुद्ध लगाए गए आरोपों से जुड़ा कोई साक्ष्य पेश नहीं कर सकीं।

 

,
Shares