पति की मौत के 9 घंटे बाद पत्नी ने भी दम तोड़ा

 

बेगमगंज:
माध्यमिक शाला के शिक्षक शेख मुस्ताक खान का हार्ट की बीमारी के चलते परिजन भोपाल लेकर जा रहे थे लेकिन रायसेन से आगे पहुंचने पर ज्ञात हुआ कि भोपाल में अस्पतालों में जगह नहीं है तो वापस सागर रवाना हुए सागर में चार अस्पतालों ने लेने से इंकार किया पांचवी चेतन हॉस्पिटल में एडमिट किया रात को 3:00 बजे और सुबह करीब 6 बजे निधन हो गया। करीब 8 घंटे परिवार के लोग इलाज के लिए उन्हें एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल लेकर घूमते रहे बमुश्किल उन्हें अस्पताल मिली लेकिन उनका निधन हो गया। पति के बिछोक्ष में पत्नी की हालत नाजुक हो गई और वे बेहोश हो गई दोपहर 2:30 बजे पति का अंतिम संस्कार कर के परिजन घर लौटे कि आधा घंटे बाद पत्नी साफिया बी की हालत ज्यादा सीरियस होने पर अस्पताल लेकर पहुंचे जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया पति की जुदाई में पत्नी ने दम तोड़ा इसकी खबर नगर में फैलते ही शोक छा गया। और लोगों की जुबान पर बरबस यह शब्द आने लगे कि पति पत्नी ने साथ जीने मरने का जो वायदा किया था वह पूरा हो गया ऐसा बहुत कम देखने को मिलता है। रात्रि 9:00 बजे शिक्षक की शरीके जिंदगी का अंतिम संस्कार उनकी कब्र के बाजू में ही किया गया जनाजे में शामिल लोगों की आंखों ने जब यह नजारा देखा तो आंसू निकल आए। लोगों ने पुरनम आंखों से मिट्टी दी मृतक पति पत्नी से एक बेटा है शाहबाज खान जिसका रो रो कर बुरा हाल
है।

,
Shares