पंचायत सचिवों के हड़ताल से फर्क नहीं पड़ता: राधेश्याम जुलानिया

नरवर | पंचायत सचिव हड़ताल पर हैं लेकिन इन्हे समझ लेना चाहिए कि उनके नहीं रहने से विकास रुक नहीं सकता। उक्त बात नरवर पंचायत में ग्राम संसद मे हिस्सा लेने आए पंचायत एवं ग्रामीण विकास के अपर मुख्य सचिव राधेश्याम जुलानिया ने प्रतिनिधि से चर्चा मे कही। रेडीमेड आइडिया के अंतर्गत अब पंचायत को काम के बाद इंजीनियर से वेल्यूवेशन कराने की आवश्यकता नहीं है। जुलानिया ने ग्राम संसद में अधिकारियों को निर्देश दिया कि जिले के 3600 शौचालयों की राशि तत्काल हितग्राही के खातों मे आरटीजीएस करें। दो माह की शमशाद पिता जावेद पटेल को दिल मे छेद होने पर मुख्यमंत्री सहायता योजना से इलाज करवाने के आदेश, बीपीएल सूची से अपात्र के नाम काटने, पूरे गाँव मे बारिश पूर्व सड़क व नाली निर्माण करने के आदेश दिए। ग्राम संसद मे विभिन्न मांगों के 112 आवेदन प्राप्त हुए। ग्राम संसद मे प्रभारी कलेक्टर आशीष सिंह, जनपद सीईओ मधुलिका शुक्ला, देवनारायण जायसवाल, जनपद प्रतिनिधि महेश राठौर, सरपंच कला बाई, उप सरपंच फिरोज पटेल, बोलासा सरपंच आशीष पंड्या व ग्रामीण उपस्थित थे।
,
Shares