देवास आएंगे दलाई लामा, नर्मदा सेवा यात्रा का किया समर्थन

देवास, 05 मार्च । नर्मदा सेवा यात्रा के दौरान देवास जिले को बौद्ध धर्म के गुरु दलाई लामा की मेजबानी करने का शुभ अवसर प्राप्त हो रहा है। दलाई लामा ने प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर विश्व के सबसे बड़े नदी संरक्षण अभियान का समर्थन किया है। अपने संदेश में दलाई लामा ने कहा है कि दुनिया में मानव जीवन संस्कृति और सभ्यताओं को बचाए रखने के लिए नदियों का संरक्षण एक अनिवार्य कदम हो गया है। ऐसी स्थिति में शिवराज सिंह द्वारा प्रारंभ किए गए इस अभियान का स्वागत करता हूं। उनका यह प्रयास अभिनंदनीय है। दलाई लामा ने आगे आह्वान किया है कि मध्यप्रदेश भारत देश और पूरी दुनिया के लोग भी मुख्यमंत्री के इस अभियान से जुड़ें। इसे व्यापक समर्थन दें और नर्मदा नदी को पूरी तरह से प्रदूषण मुक्त बना कर इस अभियान को सफल बनाएं। जिले में नर्मदा सेवा यात्रा के भव्य स्वागत की तैयारियां की जा रही हैं। यात्रा के स्वागत के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में उत्साह नजर आ रहा है। यात्रा मार्ग के गांवों को सजाया संवारा जा रहा है। वहीं यात्रा प्रभारी, अधिकारीगण एवं अन्य जनप्रतिनिगण निरंतर दौरा कर यात्रा की तैयारियों को अंतिम रूप दे रहे हैं। ग्रामीणों से संवाद कर व्यवस्थाओं को पुख्ता किया जा रहा है। नोडल अधिकारी सीईओ जिला पंचायत प्रबल सिपाहा ने बताया है कि कांटाफोड़, सतवास, लोहारदा नगर पंचायत क्षेत्रों में यात्रा का भव्य स्वागत किया जाएगा। इसके लिए गांवों में विशेष साफ सफाई एवं स्वागत द्वार लगाये जा रहे हैं। ग्राम रहमानपुरा, गोदना, बामनी बुजुर्ग, डाबरी बुजुर्ग, बड़कन, गाड़ागांव, बाईजगवाड़ा, नामनपुर, टिपरास, भंडारिया, गर्डी-झाबर्या एवं पीपलकोटा में भी यात्रा के आगमन की तैयारी की जा रही है। ग्रामीण रेखाबाई, गोपाल भलावी ने बताया कि गांवों में दीवारों पर नारे लिखने के साथ साथ नर्मदा के चित्र भी बनाये जा रहे हैं। नर्मदा के घाटों को सजाया संवारा जा रहा है। इससे नर्मदा तट का सौन्दर्य बढऩे के साथ ही स्नान के लिए आने वाले श्रृद्धालुओं को भी सहूलियत होगी। देशवाली समाज प्रमुख हीरालाल पटेल एवं गोपीकृष्ण धुणावत ने बताया कि फतेहगढ में देशवाली समाज की धर्मशाला में लगभग एक हजार यात्री रुकेंगे। धर्मशाला में रुकने एवं अन्य व्यवस्थाएं पूर्ण कर ली गई हैं। गांवों में नर्मदा सेवा यात्रा में शामिल होने के लिए लोगों को पीले चावल देकर आमंत्रित किया जा रहा है।

,
Shares