गौर ने अपनी ही सरकार को घेरा

भोपाल, 20 मार्च । पूर्व मुख्‍यमंत्री और भाजपा के वरिष्‍ठ विधायक बाबूलाल गौर ने सोमवार को विधानसभा में अपनी ही सरकार को घेर लिया। उन्‍होंने कांग्रेस विधायक के एक सवाल पर समर्थन देकर सरकार के लिए असहज स्थिति पैदा कर दी। दरअसल प्रश्‍नकाल के दौरान कांग्रेस के विधायक हर्ष यादव ने सरकार से पूछा था कि पाकिस्‍तान गए लोगों की भोपाल स्थित निजी जमीन को सरकारी कैसे घोषित कर दिया गया। यादव ने भोपाल और सागर जिले में मर्जर भूमि के नामांतरण में अरबों रुपए के भ्रष्‍टाचार का आरोप लगाया था और ऐसे सभी नामांतरणों को शून्‍य घोषित करने की मांग की। कांग्रेस विधायक के सवाल पर संसदीय कार्यमंत्री नरोत्‍तम मिश्रा ने जवाब देते हुए कहा कि 1950 में मर्जर एग्रीमेंट पर अमल नहीं हो पाया जिस कारण ये विसंगति पैदा हुई। मामला हाईकोर्ट में होने पर के कारण इस पर देरी हो रही है। इस पर गौर ने कहा कि मामलों को शून्‍य घोषित कर दें और एक जांच समिति बना दें। इस पर मिश्रा ने कहा कि मामलों की जांच होगी और दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी। गौर ने कहा कि भोपाल में निजी जमीन को सरकारी कैसे घोषित कर दिया गया। ये पाक गए लोगों की सम्‍पत्ति है। गौर ने पूछा कि विधानसभा को गलत जानकारी क्‍यों दी गई। इस पर सदन में कांग्रेस विधायक शोर शराबा करने लगे। शोर शराबे के बीच मिश्रा ने कहा कि इसकी जांच करा ली जाएगी। मिश्रा के जवाब से असंतुष्‍ट होकर कांग्रेस विधायक इसकी समय सीमा बताए जाने की मांग करने लगे। मिश्रा ने कहा कि अदालत का फैसला आते ही इस पर कार्रवाई होगी।

,
Shares