गंदे बैंक नोटों को छूने से भी फैल सकता है कोरोना वायरस, ऐसे करें बचाव

भारत में भी कोरोना वायरस Corona virus ने दस्तक दे दी है. इस वायरस से बचाव ही आपको सुरक्षित रख सकता है. ये अब तक भारत में सक्र‍िय दूसरे वायरस की अपेक्षा काफी खतरनाक माना जा रहा है. आइए जानें- कोराेना वायरस से बचने के वो उपाय, जो आपको पूरी तरह सुरक्ष‍ित रख सकते हैं. इसकी जरा-सी लापरवाही आपके लिए घातक हो सकती है.

कोरोना वायरस अब तक का सबसे खतरनाक वायरस माना जा रहा है। जिसके संदर्भ में अब यह बात सामने आई है कि गंदे बैंक नोटों को भी छूने से कोरोना वायरस फैल सकता है। इसके लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने नोटिस जारी करके इसकी पुष्टि की है।

ये है मामला

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रवक्ता ने ब्रिटिश न्यूजपेपर द टेलिग्राफ के जरिए कहा है कि कोरोना वायरस बैंक नोटों को भी छूने से फैल सकता है। उनका कहना है कि कोरोना वायरस इंसान के शरीर के बाहर भी कुछ दिनों तक जिंदा रहते हैं। जिसको ध्यान में रखते हुए लोगों को सतर्क रहना चाहिए। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि जब कोई कोरोना वायरस पीड़ित बैंक नोटों को छूता है तो उसके वायरस नोटों पर रह जाते हैं। साथ ही ये वायरस कुछ दिनों तक इंसान के शरीर के बाहर जीवित रह सकता है। इसलिए लोगों को इस मामले में सतर्क रहने की जरुरत है। इसके लिए लोगों को ज्यादातर डिजिटल पेमेंट का उपयोग करना चाहिए।

बैंक ऑफ इंग्लैंड ने भी की है पुष्टि

बैंक ऑफ इंग्लैंड ने भी इस बात की पुष्टि की है कि बैंक नोटों में भी वायरस हो सकते हैं। इसको ध्यान में रखते हुए उन्होंने सभी लोगों से अपील की है कि बैंक नोटों को छूने के बाद अच्छी तरह से हाथ को धोएं।

9 दिनों तक जीवित रहते हैं ये वायरस

डॉक्टरों ने कहा है कि कोरोना वायरस 9 दिनों तक निर्जीव चीजों पर मौजूद रह सकते हैं। जिससे बचने के लिए सैनिटाइजर का उपयोग किया जा सकता है। लोगों को अपने घरों में भी सफाई रखनी चाहिए जिससे कोरोना वायरस से बचाव हो सकता है।

भारत में भी मिले हैं कोरोना वायरस के लक्षण

कोरोनावायरस ने अब भारत में भी दस्तक दे दी है। भारत के कई हिस्सों में कोरोना वायरस ने खलबली मचा रखी है। नोएडा, दिल्ली, जयपुर, तेलंगाना में कोरोना वायरस के मरीज मिलने के बाद अब आगरा में भी कोरोना वायरस के 6 संदिग्ध मिले हैं। कोरोना वाय

दो मीटर की दूरी बनाकर बात करें

अगर कोई व्यक्ति‍ खांसी या छींक से परेशान है. आपको लगे कि वो बीमार है तो आप उससे कम से कम 0.5 से 2 मीटर तक की दूरी से बात करें या उन्हें मास्क दें, ताकि आसपास के लोग किसी भी तरह के संक्रमण से बच सकें.

माउस पकड़ने से भी फैल सकता है वायरस

कई बार बीमार व्यक्त‍ि की लार (Saliva) आसपास की चीजों तक जा सकती है. अगर वो मुंह में हाथ लगाकर खांसने या छींकने के बाद लिफ्ट बटन, माउस, कप, टिश्यू, यहां तक कि मोबाइल, कंप्यूटर डेस्कटॉप तक भी पहुंच सकता है. इसलिए इन चीजों को छूने के बाद हाथों को धोए बिना आंख या चेहरा टच न करें.

48 घंटे रहता है वायरस

वायरस प्रभावित व्यक्ति‍ जिन चीजों जैसे प्लेट, कप या किसी भी सामान का इस्तेमाल करता है, उसमें 48 घंटे तक कोरोना वायरस जीवित रहता है. इन चीजों को साबुन से धोकर ही वायरस को खत्म किया जा सकता है.

न बरतें ये लापरवाही

अगर आप किसी कोरोना संभावित मरीज से मिलते हैं तो उसे छूने के बाद तत्काल साबुन से हाथ धोएं. आपको अपने हाथ कोहनियों तक धोने चाहिए. अगर इसमें लापरवाही की तो ये आपके लिए घातक हो सकता है.

एक दिन से ज्यादा मास्क न पहनें

आप अपने कप को डिस्पोजेबल टिश्यू से कवर करें. इसे इस्तेमाल के बाद डस्टबिन में डाल दें. इसी तरह मास्क का इस्तेमाल भी एक ही दिन करें क्योंकि अगर आप इसे लंबे समय तक पहनते हैं तो ये बैक्टीरिया मास्क के भीतर भी पनप सकता है.

खाना या तौल‍िया न इस्तेमाल करें

आपके आसपास अगर कोई वायरस से संभावित रूप से प्रभावित है तो आप उसके इस्तेमाल किए हुए तौलिया, खाना, बर्तन या अन्य सामान का इस्तेमाल न करें.

आंख, कान और नाक को छूने से बचें

ये वायरस आंख, कान और नाक के जरिये भी फैलता है. इसलिए किसी भी तरह के फ्लू के प्रभावित व्यक्त‍ि से मिलने के बाद आंख, कान या नाक में हाथ न लगाएं. आप बिना हाथ धोए चेहरे को न छुएं.

अगर आपको फ्लू के लक्षण जैसे बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्या है तो तुरंत डॉक्टर से मिलकर जांच कराएं. बता दें कि ये वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है, इसलिए सावधानी बहुत जरूरी है.

,
Shares