खंडवा: ईसाई धर्म अपनाने के लिए लालच देने वाले गिरफ्तार

खंडवा-    ईसाई धर्म अपनाने के लिए लालच देने वाले तीन लोगों को पकड़कर लोगों ने पुलिस के हवाले किया। तीनों आरोपियों को पिपलौद पुलिस ने गिरफ्तार किया है। सोमवार को आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया। यहां से तीनों को जेल भेज दिया गया है।

धर्मांतरण करने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में एक गिरोह सक्रिय है। ग्रामीण महिला व पुरुषों को लालच देकर और बहला फुसलाकर इसाई धर्म अपनाने का प्रयास किया जा रहा है। रविवार को पिपलौद थाना क्षेत्र के ग्राम सीताबेड़ी में एक ऐसे ही गिरोह का खुलासा हुआ।

धर्मांतरण किए जाने की सूचना ग्रामीणों ने पुलिस को दी थी। पुलिस ने प्रभाकर पिता रूपसिंग बारेला निवासी चोपड़ा जलगांव, अमरसिंह पिता भीलू निवासी खकनार और किशोर पिता सुखराम बारेला निवासी ग्राम कालीकुंडी (बड़वानी) को गिरफ्तार किया।

सोमवार को पुलिस तीनों आरोपियों को खंडवा लेकर पहुंची। जिला अस्पताल में मेडिकल कराने के बाद तीनों को लेकर पिपलौद थाना प्रभारी शिवराम पाटीदार व अन्य पुलिसकर्मी कोर्ट पहुंचे। थाना प्रभारी पाटीदार ने बताया कि आरोपी प्रभाकर, अमरसिंह और किशोर को जेल भेज दिया गया है।

धर्मांतरण के लिए देते थे लालच

पुलिस के अनुसार आरोपी प्रभाकर, अमरसिंह और किशोर आदिवासी क्षेत्रों में धर्मांतरण कराते थे। इसके पहले भी कुछ स्थानों में उन्होंने धर्मांतरण कराने की बात कबूल की है। इसके लिए वे ग्रामीण क्षेत्रों में बकायदा शिविर लगाते थे। इसमें आदिवासी समाज की महिला, पुरुष व बच्चों को शामिल करते। लोगों को बुलाने का काम आरोपियों के साथ आई दो महिलाएं भी करती थीं।

ग्राम सीताबेड़ी में भी शिविर लगाकर धर्म बदलवाने का प्रयास किया गया। लोगों को इसाई धर्म अपनाने के लिए लालच दिया गया। महिलाओं को बाइबल और क्रॉस दिए गए।

उनसे कहा गया कि क्रॉस पहनने से उनकी तकलीफ दूर हो जाएगी। उन पर धन की वर्षा होगी। धर्मांतरण की शिकायत गांव के राजू पिता कड़ू बारेला ने थाने में की थी। पुलिस ने आरोपियों पर प्रकरण दर्ज किया है।

 

,
Shares