केंद्रीय गृह मंत्री और मुख्यमंत्री ने मंडला में रोपा त्रिगुंडी

भोपाल। नमामि देवी नर्मदा सेवा में शामिल होने मण्डला आए केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को मण्डला के कुम्भ स्थल पर त्रिगुण्डी (पीपल, बरगद, नीम) का पौध-रोपण किया। शास्त्रों में मान्यता है कि एक साथ उगे पीपल, बरगद और नीम वृक्ष की परिक्रमा करने से तीन गुना पुण्य मिलता है। इन्हें त्रिवेणी, त्रिदेव और त्रिगुणी नाम से भी पहचाना जाता है।

गृह मंत्री राजनाथ सिंह के पौध-रोपण स्थल पहुँचने पर आदिवासी लोक नर्तकों ने बैगा, गोंड़, सैला, करमा और रीना नृत्य करते हुए स्वागत किया। ये मंडलियाँ राष्ट्रीय स्तर के अनेक कार्यक्रमों में प्रस्तुति के साथ फिल्म महोत्सव में भी भाग ले चुकी है। इसके पूर्व मंगलवार को सुबह नर्मदा किनारे कुम्भ स्थल पर नर्मदा आरती हुई। इसमें नर्मदा यात्री, शासन- प्रशासन के प्रतिनिधि और स्थानीय लोग शामिल हुए।

मंगलवार को नर्मदा किनारे मिश्रित प्रजातियों के 40 पौधे लगाए गए। इसमें नीम, पीपल, बरगद, कदम्ब, जामुन, कैथ, सुबबूल, आम, अमरूद आदि छायादार एवं फलदार पौधे शामिल किए गए। इस स्थल पर 2 जुलाई को एक किलोमीटर तक 25 मीटर चौड़ाई में वृहद पौध-रोपण होगा। लोगों को कृषक वानिकी से कृषक समृद्धि योजना, निजी भूमि पर पौध-रोपण और वनदूत योजना की जानकारी दी गई।

सूक्ष्म, लघु, उद्योग मंत्री संजय सत्येन्द्र पाठक, आदिवासी वित्त विकास निगम के अध्यक्ष शिवराज शाह, खनिज विकास निगम के अध्यक्ष शिव चौबे, रोजगार निर्माण मण्डल के अध्यक्ष हेमंत देशमुख, पाठ्य-पुस्तक निगम के उपाध्यक्ष अवधेश नायक और साध्वी योगमाया भी इस अवसर पर मौजूद थी। पौधारोपण कार्यक्रम के बाद केन्द्रीय गृह मंत्री हैलीकाप्टर द्वारा जबलपुर पहुंचे और वहां से छत्तीसगढ़ के रवाना हुए।

,
Shares