कुछ यूं होती है यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की शक्ति पूजा

 

गोरखपुर, 29 मार्च । गोरक्षनाथ मंदिर के महंथ योगी आदित्यनाथ अब देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बन चुके हैं। गोरक्षपीठ के साथ इनके कंधों पर एक बड़ी जिम्मेदारी आ गई है। योगी अब राजयोग का सुख भी भोग रहे हैं। आईये, हम योगी की राजयोग के साथ हठयोग और शक्ति पूजा के बारे में जानते हैं। प्रस्तुत है योगी की नवरात्र में शक्ति पूजा और योगसाधना से जुड़े कुछ बिंदु- -हर रोज सुबह तीन बजे जगाकर शुरू करते हैं दिनचर्या -हर रोज की तरह होती है पूजा-पाठ -दुर्गा शप्तशती से शुरू होता है नवरात्र में अनुष्ठान -पहले दिन ही होती है कलश स्थापना -पूजन में समय 21 ब्राह्मण करते रहते हैं मंत्रोच्चारण -पंडित कमल नेगी की देखरेख में होता है पूजन-पाठ -नाथ संप्रदाय की रीति-नीति के मुताबिक होता है पूजन-पाठ -नाथ संप्रदाय के मुताबिक इनके सिर पर होती है टोपी -नवरात्र के दिनों में केवल लेते हैं फलाहार -तांबे के बर्तन में लेते हैं फलाहार -कुवांरी कन्या के पूजन से समाप्त होता है अनुष्ठान -गरीब परिवारों की कुंवारी कन्याओं को कड़ाते हैं भोजन -कुंवारी कन्याओं का नहीं भूलते पांव पखारना -कुवांरी कन्याओं की आरती के समय एक हाथ में धूप और दूसरे हाथ में रहती है नारायणी घंटी l

,
Shares