ईरान :कोरोना वायरस के कारण 54000 कैदियों को रिहा किया

तेहरान,  ईरान ने कोरोना वायरस के तेजी से फैलने के कारण 54000 कैदियों को अस्थायी रूप से रिहा कर दिया है। इससे पहले कोरोना के कारण ईरान में 77 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है और 23 संसद सदस्य समेत तमाम लोग संक्रमित हैं।

न्यायपालिका के प्रवक्ता घोलामहोसैन इस्माइली ने कहा है कि कैदियों की जांच की गई है और इनके टेस्ट नेगेटिव पाए गए हैं। इन्हें अस्थायी तौर पर जमानत पर रिहा किया गया है। हालांकि ‘सिक्योरिटी प्रिज़नर्स’ जिन्हें पांच साल से अधिक की सजा सुनाई गई है, उन्हें रिहा नहीं किया गया है।

इस्माइली ने यह भी संकेत दिए हैं कि ब्रिटिश-ईरानी कैदी नाजनीन जघारी-रैटक्लिफ को भी जल्द ही रिहा कर दिया जाएगा। इनके पति ने शनिवार को कहा था कि उनकी पत्नी कोरोना वायरस से ग्रसित हैं, जबकि जेल प्रशासन ने उनकी जांच करने से मना कर दिया था।

उल्लेखनीय है कि नाजनीन को जासूसी के आरोप में दोषी ठहराए जाने के बाद साल 2016 में पांच साल की सज़ा सुनाई गई थी और ब्रिटेन लगातर कह रहा है कि वह निर्दोष हैं। नाजनीन के पति ने सोमवार को बताया कि उनकी पत्नी अपने परिवार के साथ संपर्क में हैं और अपने अच्छे स्वास्थ्य के बारे में बताया।

ईरान में पिछले दो हफ्ते में कोरोना वायरस से 77 लोगों की मौत हो चुकी है और 2330 से ज्यादा मामले सामने आए हैं।hs

,
Shares