इंदौर-उज्जैन से वाराणसी के बीच चलेंगी 2 निजी ट्रेन

इंदौर: मध्य प्रदेश में इंदौर पहुंचे रेल मंत्री पीयूष गोयल ने उज्जैन में महाकाल के दर्शन करने के बाद प्रदेश को बड़ी सौगत दी है। रेलमंत्री ने मीडिया से चर्चा करते हुए दो नई ट्रेन के घोषणा की। पहली ट्रेन इंदौर-विश्वनाथ के बीच चलेगी। वहीं दूसरी ट्रेन उज्जैन और बनारस के बीच चलेगी। यह दोनों ही ट्रेन निजी होंगी। रेलमंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि यह दोनों ही ट्रेन पूरी तरह निजी रहेगी। इसके लिए इसमें विशेष सुविधाएं रहेंगी। इन ट्रेनों को संचालन आरआईसीटीसी के माध्यम से किया जाएगा।

दिल्ली से लखनऊ के बीच- बीच रेलवे कुछ समय पहले ही एक निजी ट्रेन चला रहा है और अब दूसरी ट्रेन 17 जनवरी से अहमदाबाद से मुंबई के बीच चलने जा रही है। इंदौर से चलने वाली इंदौर-काशी विश्वनाथ के बीच ट्रेन ओवर नाइट रहेगी। रेलमंत्री ने अपने चर्चा के दौरान निजीकरण पर जोर दिया। रेलवे में हो रहे निजीकरण को लेकर रेलमंत्री गोयल ने कहा कि रेलवे में बाहरी एजेंसी और लोगों के आने से रेलवे और यात्रियों दोनों को ही फायदा है। किसी तरह का विरोध नहीं हो रहा है।

आज अपने उज्जैन प्रवास के दौरान स्थानीय लोगों से मिलने का अवसर मिला, उनके अपनेपन और स्नेह से अभिभूत हूँ।

वहीं सभी इसका स्वागत कर रहे हैं। निजी रूप से रेलवे में 50 लाख करोड़ रुपए का निवेश हो रहा है। जिससे यात्रियों को सुविधाएं मिलेंगी और मालभाड़ा सुगम और सस्ता होगा। भारतीय रेल भारत की धरोहर है। भारत के लोगों की है। हमेशा सरकारी क्षेत्र में रहेगी। इंदौर से चलने वाली लिंगमपल्ली और पुरी हमसफर ट्रेन में नाममात्र के यात्री सफर कर रहे हैं। इसको लेकर रेलमंत्री गोयल ने कहा कि इसकी रिपोर्ट मुझे भेजें। इसके बाद हम रूट और स्टॉप का निरीक्षण करवाकर दूसरे रूट पर इस रैक का संचालन करेंगे।

इंदौर-हावड़ा के बीच डेली ट्रेन चलाने को लेकर रेलमंत्री गोयल ने कहा कि इस रूट पर जो पाथ चाहिए, इसका काम चल रहा है। काम पूरा होते ही शिप्रा एक्सप्रेस को नियमित कर दिया जाएगा। इंदौर रेलवे स्टेशन के सौंदर्यीकरण का काम जल्द शुरू होगा। इसके लिए प्रायवेट पार्टनरशिप के तहत टेंडर जारी किए जाएंगे।

,
Shares