इंदौर:एसडीएम सहित चार को हटाया

 

 

 

 

रानीपुरा हादसे में शुक्रवार को कलेक्टर ने एसडीएम सहित क्षेत्र के राजस्व अमले को ही हटा दिया।, ताकि मजिस्ट्रियल जांच प्रभावित न हो।

रानीपुरा में मंगलवार दोपहर पटाखा गोदाम में हुए भीषण अग्निकांड में सात लोगों की मौत हो गई थी और नौ से अधिक दुकानें व दर्जनों वाहन जल गए थे। डीआईजी ने त्वरित कार्रवाई करते हुए सेंट्रल कोतवाली थाना प्रभारी सहित पांच पुलिसकर्मियों को लाइन अटैच कर दिया था। इसके बाद प्रशासन पर भी जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई का दबाव था। कलेक्टर पी. नरहिर ने आखिरकार एसडीएम बिहारी सिंह, तहसीलदार राजकुमार हलदर, राजस्व निरीक्षक मिथिलेश झारिया और पटवारी अखिलेश पाठक को हटा दिया। एसडीएम को 1 अप्रैल को ही इस क्षेत्र की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। अब उन्हें मुख्यालय भेजा गया है। हलदर को नजूल शाखा और झारिया व पाठक को भू-अभिलेख कार्यालय में पदस्थ किया है। सेंट्रल कोतवाली क्षेत्र का जिम्मा अब एसडीएम अजीत श्रीवास्तव को सौंपा गया है।….

कलेक्टर ने रानीपुरा हादसे में मजिस्ट्रियल जांच का जिम्मा एडीएम शमीमउद्दीन को सौंपा है। उन्होंने तय बिंदुओं पर जांच शुरू भी कर दी है। हादसे को लेकर नागरिकों के पास जो भी सबूत है, उसे लिखित या मौखिक रूप में बताने के लिए उन्होंने जाहिर सूचना जारी की है। हालांकि पहले दिन किसी ने भी कोई जानकारी नहीं दी हैl……

रानीपुरा में जहां विस्फोट हुआ, वह मकान खतरनाक स्थिति में पहुंच गया है। वर्षों पुराने इस मकान की खिड़की का एक हिस्सा लटक गया है। इससे कोई हादसा न हो, इसके लिए नीचे बेरिकेड लगाए गए हैं। निगमायुक्त मनीष सिंह ने बताया दुकान व उसकी ऊपरी मंजिल को हटाया जाएगा।

……………..

,
Shares