आतंकी को ढेर करने वाले नायब सूबेदार सोमबीर समेत 9 जांबाजों को शौर्य चक्र

गैलेंट्री पुरस्कारों की घोषणा कर दी गई है. इस बार 9 लोगों को शौर्य चक्र, 28 सुरक्षाकर्मियों को परम विशिष्ट सेवा मेडल, 4 सुरक्षाकर्मियों को उत्तम युद्ध सेवा मेडल, 53 सुरक्षाकर्मियों को अति विशिष्ट सेवा मेडल, 10 सुरक्षाकर्मियों को युद्ध सेवा मेडल, 123 सुरक्षाकर्मियों को विशिष्ट सेवा मेडल, 107 सुरक्षाकर्मियों को सेना मेडल समेत 409 गैलेंट्री पुरस्कार दिए गए हैं. नायब सूबेदार सोमबीर, चल्लापिल्ला नरसिम्हा राव, कमल किशोर और अमन कुमार को मरणोपरांत शौर्य चक्र से नवाजा गया है.

भारतीय सेना की जाट रेजिमेंट के नायब सूबेदार सोमबीर ने अपनी वीरता का परिचय देते हुए जम्मू-कश्मीर में एक विदेशी आतंकी को ढेर किया था. उनकी बहादुरी को देखते हुए शौर्य चक्र से नवाजा गया है. इसके अलावा लेफ्टिनेंट कर्नल ज्योति लामा, मेजर कोनजेंगबाम बिजेंद्र सिंह, नायब सूबेदार नरेंद्र सिंह, नायक नरेश कुमारथ और सिपाही करमदेव ओरांव को भी शौर्य चक्र से नवाजा गया है. इस तरह कुल 9 सैन्यकर्मियों को शौर्य चक्र से नवाजा गया है.

इन गैलेंट्री पुरस्कारों का ऐलान गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर किया गया. भारत सरकार हर साल बहादुरी के लिए गैलेंट्री अवॉर्ड प्रदान करती है.

इसके अतिरिक्त पद्म पुरस्कारों का भी ऐलान कर दिया गया है. इस साल 7 लोगों को पद्म विभूषण, 16 लोगों को पद्म भूषण और 118 लोगों को पद्मश्री से सम्मानित करने की घोषणा की गई है. ये नागरिकता पुरस्कार कला, समाज सेवा, विज्ञान, साहित्य, शिक्षा, खेल समेत अन्य क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने के लिए दिया जाता है.

इसके अलावा 54 लोगों को नागरिकता जीवन पुरस्कार ‘जीवन रक्षा पदक’ से सम्मानित की घोषणा की गई है. इनमें से सात को सर्वोत्तम जीवन रक्षा पदक, आठ को उत्तम जीवन रक्षा पदक और 39 को जीवन रक्षा पदक से नवाजा जाएगा. इनमें से पांच व्यक्तियों को यह पुरस्कार मरणोपरांत दिया जा रहा है. ये पुरस्कार किसी व्यक्ति के संकट में पड़े जीवन को बचाने और उसकी मदद करने के लिए मानवीय प्रकृति के सराहनीय कार्य के लिए दिए जाते हैं.

,
Shares