आईएसआईएस से जुड़े है आतंकियों के तार: शिवराज

भोपाल, 08 मार्च । भोपाल-उज्जैन पैसेंजर में हुए ब्‍लास्‍ट पर गुरुवार को मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विधानसभा में पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि पकड़े गए आतंकियों से पुलिस और एनआईए की पूछताछ में आतंकियों के तहरीक-ए-इंसाफ संगठन से जुड़े होने की बात सामने आई है। यह संगठन आईएसआईएस से जुड़ा है जो आतंकी गतिविधियों के लिए काम करता है। इस घटना में पाइप बम का इस्‍तेमाल किया गया था। शिवराज ने कहा कि घटना के तुरंत बाद मध्‍यप्रदेश पुलिस की सजकता के कारण नाकेबदी कर इन आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया गया। उन्‍होंने कहा कि मध्‍य प्रदेश शांति का टापू हैं यहां पर किसी प्रकार की आतंकी गतिविधि को बदर्शात नहीं किया जाएगा। इस पूरी घटना पर मप्र पुलिस केंद्रीय जांच एजेंसियों के संपर्क में हैं। आतंकियों के पूछताछ जारी है जिससे ओर खुलासा हो सकता है। आतंकवादी लखनऊ से भोपाल पहुंचे। इसके बाद भोपाल स्‍टेशन से तीनों मंगलवार सुबह भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में सवार हुए। सामान रखने वाले उपर की रैक में सूटकेस रखा। जहां पर उन्‍होंने इसमें पाइप बम रख दिया था। ट्रेन जबड़ी स्टेशन रुकी। तीनों आतंकी ट्रेन से उतर गए । ट्रेन चलने के 5 मिनट बाद आतंकियों ने मोबाइल रिपोट से ब्लास्ट कर और पैदल ही सीहोर रोड तक आ गए। बलास्‍ट में पाइप बम का इस्‍तेमाल किया गया था। यहां से वे बस द्वारा राजधानी के नादरा बस स्टैंड पहुंचे और पिपरिया की बस में सवार हो गए। जबड़ी में आतंकियों के हुलिए पर ट्रेन में वार यात्रियों से हुई पूछताछ के आधार इनके भोपाल आने का पता चलते ही एटीएस हरकत में आई और पुलिस से सूचना देकर नोकेबंदी करनी शरू कर दी। तब तक ये तीनों होशंगाबाद के पिपरिया जाने की सूचना पर होशंगाबाद पुलिस को अलर्ट कर नाकेबंदी इन्‍हें पिपरिया के चेतक टोल नाके से संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया। पकड़े गए आतंकियों से पुलिस और केंद्रीय जांच एजेंसिया पूछताछ कर रही हैं। हिन्‍दुस्‍थान समाचार/मयंक/राजू/अंकिता

,
Shares