अयोध्या में सरयू में लाखों भक्तों ने लगाई आस्था की डुबकी

अयोध्या। जेहिं दिन राम जनम श्रुति गावहिं , तीरथ सकल तहां चली आवहिं… धार्मिक नगरी अयोध्या में बुधवार को रामजन्मोत्सव मनाया जा रहा है और इस पवित्र अवसर पर लाखो की संख्या में श्रद्धालु अयोध्या पहुंचे हैं और पुण्य सलिला सरयू में डुबकिया लगा रहे है । साथ ही अयोध्या के प्रमुख मठ मंदिरों में भी दर्शन पूजन का क्रम जारी है | अयोध्या में चल रहे चैत्र रामनवमी मेले का उत्साह आज चरम पर है भोर चार बजे से ही अयोध्या के सरयू तट पर लाखो की संख्या में श्रद्धालु आस्था और श्रद्धा की डुबकिया पवित्र सरयू के जल में लगा रहे है और दर्शन और पूजन का यह क्रम लगातार जारी है जो पूरे दिन तक चलेगा ।

तीर्थराज प्रयाग की कालिख भी धुल गयी थी सरयू के पवित्र जल में

धार्मिक मान्यता है और शास्त्रों में चैत्र मास की रामनवमी पर अयोध्या की पुण्य सलिला सरयू नदी में स्नान का विशेष महत्व बताया गया है। कहा जाता है जब दुनिया का पाप धोते-धोते तीर्थराज प्रयाग मैले कुचले और काले हो गए थे, तब वह रामनवमी के मौके पर एक अश्व पर सवार होकर अयोध्या आए थे और अपने अश्व सहित पवित्र सरयू नदी में प्रवेश कर गए थे। जिसके बाद जब वह बाहर निकले तो उनका अश्व और स्वयम वह काले से पूरी तरह से सफेद हो गए तबसे हर रामनवमी पर तीर्थराज प्रयाग भी अयोध्या आते हैं। और इस पवित्र अवसर पर पुण्य सलिला सरयू में डुबकी लगाते हैं। ऐसी मान्यता और परंपरा को आत्मसात करते हुए देश के कोने-कोने से श्रद्धालु रामनवमी के इस पवित्र मौके पर अयोध्या की पवित्र सरयू नदी में अफसान कर रहे हैं कि रामजन्मोत्सव में शामिल होने सभी देवी देवता अयोध्या आते है। स्वयं तीर्थराज प्रयाग भी अपने पाप धोने अयोध्या आते हैं इसी मान्यता के चलते देश के कोने कोने से श्रद्धालु अयोध्या आते है और पुण्य पवित्र सरयू में डुबकिय लगाते है ।

रामनवमी के मौके पर 15 लाख से अधिक श्रद्धालु पहुंचे राम नगरी अयोध्या

चैत्र रामनवमी की पवित्र अवसर पर मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम की जन्मस्थली अयोध्या में देश के कोने-कोने से आए बीस लाख से अधिक श्रद्धालु मौजूद हैं। और बड़ी आस्था और श्रद्धा के साथ पवित्र सरयू नदी में स्नान के बाद अयोध्या के प्रमुख सिद्ध पीठों में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम की जन्म स्थली राम जन्मभूमि धार्मिक नगरी कनक भवन भूमि,दशरथ जी का महल ,मनीराम दास की क्षवानी ,रामवल्लभा कुंज,गोलाघाट सतगुरु सदन ,लक्ष्मण किला सहित अयोध्या के कई अन्य मंदिरो में दर्शन और पूजन कर रहे हैं। इस मौके पर इन मंदिरों में उत्सव जैसा उल्लास है और भगवान राम के जन्मोत्सव के मौके पर बधाई गीत गाए जा रहे हैं। हर कोई इस पुण्य अवसर पर अयोध्या पहुंचकर स्वयं को इस पुन्य का भागी बनाना चाहता है। जिसके कारण अयोध्या की गलियां और सड़कें श्रद्धालुओं से भरी हुई है । श्रधालुओं ने बधाई गीत गाते हुए नृत्य किया और भगवान राम के जन्मोत्सव में शरीक हुए और बड़ी ही आस्था और श्रद्धा के साथ लोग अयोध्या के मठ मंदिरों में दर्शन और पूजन कर रहे है।

रामनाम के जयघोष से गूंजी अयोध्या, सीसीटीवी से नज़र

अयोध्या.. जहां दिल में राम है, मन में राम है और माटी का कण कण राममय है। रामनगरी में रामजन्मोत्सव का दर्शन कोई भाग्यवान ही पाता है। अयोध्या में रामजन्मोत्सव में शामिल होने के लिए आस्था का जनसैलाब उमड़ गया है। देश के कोने कोने से आये श्रद्धालु भगवान के जन्म होने का इंतजार कर रहे हैं।

बुधवार को अयोध्या में प्रभु राम का जन्मोत्सव मनाया जायेगा। मंदिरों में इस दौरान कई आयोजन होंगे। भण्डारो का भी आयोजन किया जाएगा। हर साल रामनवमी में सम्मलित होने के लिए लाखो की भीड़ अयोध्या आती है। रामनवमी में सरयू स्नान का भी बड़ा महत्व है। पौराणिक कथाओं के अनुसार रामनवमी पर सरयू स्नान से जन्म-जन्मांतर के पाप धुल जाते है। अयोध्या में रामनवमी पर आस्था का जनसैलाब एक दिन पूर्व ही दिखाई दिया। भीड़ को नियंत्रित करने में लोगो को पसीने छूट गये। प्रशासन सीसीटीवी कैमरे की मद्द से पूरे मेला क्षेत्र में नजर रखे हुए है। एसएसपी अनन्तदेव, एडीएम सिटी विन्ध्यवासिनी राय, सीओ अयोध्या दिनेश द्विवेदी, आरएम अयोध्या प्रमोद पाण्डेय, एसओ रामजन्मभूमि दिनेश्वर पाण्डेय, चौकी प्रभारी नयाघाट श्रीनिवास पाण्डेय, रायगंज प्रभारी विनोद यादव सहित एटीएस, आरएएफ, पीएसी व बम स्कवॉयड व डॉग स्कवॉयड दस्ते सहित बड़ी संख्या में पुलिस टीम मेलाक्षेत्र में सतत मुस्तैद हैं।

,
Shares