अम्बेडकर के जीवन से जुड़े पांच स्थान पंच तीर्थ के रूप में बनेंगे : शिवराज

इंदौर। बाबा साहब अम्बेडकर के जीवन से जुड़े पांच स्थान पंच तीर्थ के रूप में बनेंगे। यह देश बाबा साहब का ऋणी है जो उनके कर्ज को उतारने का प्रयास कर रहा है।

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने शुक्रवार को अम्बेडकर नगर (महू) में बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयंती पर आयोजित महाकुंभ के अवसर पर राष्ट्रीय एकता व सामाजिक समरसता सम्मेलन में उपस्थित जनसमुदाय को सम्बोधित करते हुये यह बात कही। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने “”ग्रामोदय से भारत उदय अभियान” की शुरूआत भी की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बाबा साहब की जन्मस्थली पर स्मारक बनवाने का सौभाग्य उन्हें मिला। महाराष्ट्र सरकार ने भी इन्दु मिल की जमीन को बाबा साहब की भव्य प्रतिमा स्थापित करने के लिये सौंप दी है। इसके अलावा महाराष्ट्र सरकार व भारत सरकार ने लंदन में उस भवन को भी स्मारक बनाने के लिये खरीद लिया है,जिसमें रहकर बाबा साहब लंदन में पढ़ाई की।

श्री चौहान ने कहा कि हमारी सरकार सभी वर्गों की सरकार है, किंतु पहले उनकी है जो सबसे गरीब हैं, जो सबसे नीचे हैं। उन्होंने कहा कि बाबा साहब ने गरीबों के उत्थान के लिये सतत् प्रयास किये । वे हमेशा शिक्षित बनने की बात कहते थे। सरकार ने अनुसूचित जाति-जनजाति वर्ग के बच्चों में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिये नि:शुल्क गणवेश किताबें, साइकिल जैसे सुविधाओं के साथ छात्रवृत्ति, छात्रावास, विदेश में अध्ययन की व्यवस्था व शहरों में किराये से कमरा लेकर पढ़ने की सुविधा की योजना लागू की है।

इसके साथ ही प्रायवेट मेडिकल/इंजीनियरिंग/ प्रबंधन संस्थानों में प्रवेश मिलने पर सरकार की ओर से फीस दिये जाने दिये की भी अनोखी योजना चल रही है। रोजगार के लिये मुख्यमंत्री युवा उद्यमी व स्वरोजगार जैसी योजनायें विशेषकर अनुसूचित जाति-जनजाति के युवकों के लिये शुरू की हैं। इन योजनाओं में बैंक ऋण की गारंटी राज्य शासन द्वारा दी जाती है। उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति-जनजाति के बच्चों को शिक्षा, रोजगार, व्यवसाय आदि के क्षेत्र में आगे बढ़ाने के लिये सरकार ने वे सब कदम उठायें हैं जो उठाये जाने चाहिये।

सम्मेलन की अध्यक्षता प्रदेश के वन, योजना, आर्थिक व सांख्यिकी मंत्री डॉ. गौरीशंकर शेजवार ने की। सम्मेलन में महाराष्ट्र की सांसद व भाजपा युवा मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूनम महाजन ने बताया कि महाराष्ट्र सरकार ने इन्दु मिल की जमीन को बाबा साहब अम्बेडकर की प्रतिमा स्थापना हेतु दे दी है और यह प्रतिमा जल्द ही बनकर तैयार होगी। सम्मेलन में बौद्ध संत भंते श्री संघशीलजी ने भी अपने विचार रखे।

 

,
Shares