अध्यापक दिन में करेंगे नौकरी, रात में देंगे धरना

1

भोपाल/इंदौर। मध्यप्रदेश में आजाद अध्यापक संघ के बैनर तले एक बार फिर अध्यापक रविवार, दो अप्रैल से रात्रि कालीन धरना प्रदर्शन करेंगे। आस के प्रान्ताध्यक्ष भरत पटेल के नेतृत्व में हुई प्रान्तीय बैठक में उक्त निर्णय लिया गया कि शासन द्वारा प्रदेश के नियमित कर्मचारियों को 7वां वेतनमान दिये जाने की घोषणा कर दी गई है। लेकिन अध्यापकों को उक्त लाभ से वंचित रखा गया है। जिससे तीन लाख अध्यापकों को आर्थिक नुकसान होगा।

पटेल ने बैठक में उक्त निर्णय लेते हुये बताया कि अध्यापक संवंर्ग की स्थानान्तरण नीति का केबिनेट मे पारित कर लिया गया पर आज तक शासन द्वारा नीति निर्देश के आदेश प्रसारित नही हुये। इस कारण से अध्यापकों के स्थानान्तरण नहीं हो पा रहे हैं। 15 अक्टूबर को जारी 6वें वेतनमान के आदेश का भी कुछ स्थानों पर पालन नहीं किया जा रहा है ऐसे अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।
आजाद अध्यापक संघ संभाग इकाई द्वारा बताया गया कि दो अप्रैल से आठ अप्रैल तक अध्यापक प्रदेश के समस्त जिलों में रात्रि कालीन धरना दिया जाएगा। नौ अप्रेल को जेल भरो आन्दोलन और यदि अध्यापको की लंबित मांगो का निराकण नहीं हुआ तो 14 से 16 अप्रेल के मध्य राजधानी में मुख्यमंत्री एवं मंत्रियों के आवासों का घेराव किया जायेगा।

संघ के इंदौर संभाग के अध्यक्ष कृष्णकांत आर्य ने बताया कि संभाग में दो अप्रैल से धरना दिया जाएगा। इस बैठक में शामिल पदाधिकारी रमेश सोनकर, संतोष शर्मा, गजानन दीक्षित, पवन चतुर्वेदी, पुष्पेन्द्र पाण्डेय, आशीष गौतम, अनिल पटेल, विनोद गुप्ता, संतोष शिवहरे, राजेश मिश्रा, प्रमोद तिवारी, अजय सेन, यशवंत सिंह, अमित सिंह मुस्तकीन खान आदि ने पदस्थ अध्यापकों से अपील की है कि दो अप्रेल से जिला मुख्यालय एवं ब्लॉक मुख्यालयों के धरना प्रदर्शन स्थल पर पहुंचे साथ ही जिन अध्यापकों की जो भी समस्यायें हो उन्हें लिखित में धरना स्थल पर लाएं ।

,
Shares