J&K: लालचौक पर तिरंगा फहराएंगे :अमित शाह

इस स्वतंत्रता दिवस पर हर भारतीय का वर्षों पुराना सपना पूरा होगा. दरअसल देश की आजादी के 73वीं सालगिरह पर पूरे देश में एक ही झंडा फहराया जाएगा. अनुच्छेद 370 के चलते अभी तक जम्मू-कश्मीर में ऐसा नहीं हो पाता था. यहां भारत के राष्ट्रीय झंडे की जगह जम्मू-कश्मीर का झंडा फहराया जाता था. हालांकि अब अनुच्छेद 370 हट चुका है. और बीजेपी की सालों की मेहनत सफल होगी.

15 अगस्त को आजादी की सालगिरह के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली के लालकिले पर तिरंगा फहराएंगे, तो गृहमंत्री अमित शाह श्रीनगर के लालचौक पर तिरंगा फहराकर भारत की एकता को प्रदर्शित करेंगे. जानकारी के मुताबिक 14 अगस्त को गृहमंत्री श्रीनगर पहुंच जाएंगे और अगले दिन यानी स्वतंत्रता दिवस के दिन लालचौक पर राष्ट्र धव्ज फहराएंगे.

जब मोदी ने दी थी आतंकियों को चुनौती

26 जनवरी 1992 में श्रीनगर के लाल चौक पर तिरंगा फहराने के लिए नरेंद्र मोदी ने आतंकियों को खुली चुनौती दी थी. दरअसल उस वक्त आतंकियों ने घाटी में तिरंगा नहीं फहराने की धमकी दी थी. आंतकियों की इस धमकी के विरोध में बीजेपी ने श्रीनगर के लालचौक पर तिरंगा फहराने का फैसला किया था.

उस समय बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुरली मनोहर जोशी थे. और बीजेपी ने राष्ट्रीय एकता यात्रा निकाली थी. इसके मुख्य आयोजन कर्ता नरेंद्र मोदी (तब RSS के प्रचारक) थे. उस समय मोदी ने आतंकियों को खुली चुनौती देते हुए कहा था कि 26 जनवरी को फैसला हो जाएगा कि किसने अपनी मां का दूध पिया है. पीएम मोदी ने आतंकियों को ललकारते हुए कहा था कि जितने गोलाबारूद हों रख लो, हम आ रहे हैं.

हाल ही में केंद्र सरकार ने अनुच्छेद 370 हटाने के साथ-साथ जम्मू-कश्मीर से लद्दाख को अलग करके दोनों को केंद्र शासित प्रदेश घोषित किया था. अगर केंद्रीय मंत्री अमित शाह स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल चौक जाकर तिरंगा फहराते हैं तो यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए सरकार का दूसरा ऐतिहासिक कदम होगा.

,
Shares