Coronavirus : इंदौर के अस्पताल में भर्ती कोरोना वायरस संदिग्ध मरीज की मौत

 

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों और दुनिया भर में उत्पन्न हुए हालात के बीच केंद्र और राज्य की सरकारें सतर्क हैं. बावजूद इसके, कोरोना वायरस के मामले देश में लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं. साथ ही कोरोना के कारण मौत का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है. देश में जहां कोरोना के कारण कुल 12 लोगों की जान गई है, वहीं बुधवार को मध्य प्रदेश में इस बीमारी के कारण मौत का पहला मामला सामने आया.
इंदौर के एमवाई अस्पताल में बुधवार को कोरोना वायरस से संक्रमित 65 साल की महिला ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया. वह मूल रूप से उज्जैन की रहने वाली बताई जाती है. यह प्रदेश में किसी कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत का पहला मामला है. स्वास्थ्य विभाग ने भी देर शाम प्रेस विज्ञप्ति जारी कर इसकी पुष्टि की. दरअसल, उज्जैन जिले में रहने वाली एक महिला को कोरोना वायरस की जांच में पॉजिटिव पाया गया था.

मरीज का इलाज इंदौर के एमवाई अस्पताल में चल रहा था. इलाज के दौरान बुधवार को मरीज की मृत्यु हो गई. उज्जैन की मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर अनुसूया गवली ने बताया कि उज्जैन निवासी महिला को 22 मार्च के दिन चैरिटेबल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. डॉक्टर गवली के अनुसार उन्हें केवल एक दिन पहले से ही सर्दी-खांसी की बीमारी से ग्रसित होना बताया गया.

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि उसी दिन मरीज को माधव नगर अस्पताल में भर्ती करा दिया गया, जहां नोडल अधिकारी डॉक्टर एचपी सोनानिया ने खुद मरीज का उपचार किया. उन्होंने बताया कि मरीज में कोरोना के लक्षण पाए जाने पर इंदौर रेफर कर दिया गया था. डॉक्टर गवली ने कहा कि मृतक महिला न तो विदेश गई थी, और ना ही किसी परिजन की ही विदेश यात्रा की कोई जानकारी अब तक सामने आई है.

,
Shares