स्‍कूली बसों में लगेंगे जीपीएस सिस्टम एक अप्रैल से

भोपाल, 20 मार्च । राजधानी में स्कूली और कालेलों की बसों में सुरक्षा को लेकर अब अभिभावकों को चिंता की कोई जरूरत नहीं, क्‍योंकि अभिभावक अब बच्चे को स्कूल बस से आने-जाने पर निगरानी रख सकेंगे। अब बस के ड्राइवर और कण्डक्टर पुलिस, आरटीओ और जिला प्रशासन की निगरानी में हमेंशा बनें रहेंगे। यह व्‍यवस्‍था नए सत्र एक अप्रैल से स्कूल और कॉलेज बस जीपीएस सिस्टम के साथ ही चलेंगे। यह निर्देश पहले ही जिला प्रशासन ने जारी कर दिए हैं। जानकारी के अनुसार जीपीएस सिस्टम से लैस इन बसों की निगरानी के लिए शहर में तीन सेंटर बनाए जाएंगे। यह सेंटर जिला प्रशासन, पुलिस कंट्रोल रूम और आरटीओ कार्यालय में रहेंगे। इसके अलावा जो कंपनी जीपीएस बसों में लगाएगी वह एप भी तैयार करेंगी जिससे कि अभिभावक भी बच्चों की लोकेशन इस एप की मदद से देख सकेंगे। बच्चों की सुरक्षा को देखते हुए स्कूल बस संचालक ही नहीं, बल्कि पालकों को भी राशि खर्च करनी होगी। प्रति माह बच्चे के अभिभावकों को आठ रुपए के मान से बस किराए के अलावा देना होगा। ये राशि सिस्टम को मेन्टेनेंस करने में लगेगा।

Shares