स्वच्छता ही सेवा : प्रधानमंत्री ने दिल्ली के स्कूल में लगाई झाड़ू, बच्चों से की मुलाकात

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को ‘स्वच्छता ही सेवा’ मुहिम की देशभर में शुरुआत की। इस दौरान उन्होंने देश की कई बड़ी हस्तियों के साथ ही दैनिक जागरण से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बात की। प्रधानमंत्री ने इस दौरान जागरण द्वारा स्वच्छता के लिए किए गए प्रयासों को भी खूब सराहा।

इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के पहाड़गंज स्थित बाबा साहेब आंबेडकर हायर सेकेंडरी स्कूल में श्रमदान किया। उन्होंने खुद झाड़ू लगाकर स्कूल परिसर को साफ किया और वहां उपस्थित छात्रों से भी बातचीत की। साथ ही लोगों को भी स्वच्छता का संदेश दिया।

बिना सुरक्षा के निकले, जाम में फंसे

इससे पहले जब प्रधानमंत्री पहाड़गंज स्थित बाबा साहेब आंबेडकर स्कूल के लिए निकले तो बिना सुरक्षा के ही निकल पड़े। उनके काफिले के लिए दिल्ली में कहीं भी रास्ते बंद नहीं किए गए थे और नतीजा यह रहा कि प्रधानमंत्री को काफी देर जाम में फंसे रहना पड़ा।

‘स्वच्छता ही सेवा’ मुहिम की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी ने विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों का जिक्र करते हुए कहा कि तीन लाख लोगों की जिंदगी स्वच्छता के चलते बचाई जा सकेगी। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि सिर्फ शौचालय बनाने भर से भारत स्वच्छ हो जाएगा, तो ऐसा नहीं है। उन्होंने कहा कि स्वच्छता एक आदत है, जिसे रोज के अनुभवों में शामिल करना पड़ता है। ब

ता दें कि शनिवार को पीएम मोदी ने ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान की शुरुआत की। पीएम ने देश के 18 अलग-अलग राज्यों में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए लोगों से संवाद किया। इस दौरान पीएम मोदी ने स्वच्छ भारत की दिशा में उठाए गए दैनिक जागरण समूह के प्रयासों को भी सराहा। 4 साल में की 60 साल जितनी सफाई ‘स्वच्छता ही सेवा’ कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा कि स्वच्छता का जो लक्ष्य हमने चार वर्षों में हासिल किया है, वह बीते 60-70 वर्षों में नहीं किया जा सका।

मोदी ने कहा, ‘स्वच्छता का कवरेज जो कभी 40 फीसद था, अब स्वच्छता का कवरेज 90 फीसद तक है। उन्होंने कहा, ‘किसने सोचा होगा कि चार वर्षों में हम स्वच्छता के मामले में इतनी प्रगति कर लेंगे, जितनी पिछले 60 से 70 वर्षों में न हो पाई।’

उन्होंने कहा कि किसी ने सोचा न था कि 4 वर्ष में 8 करोड़ शौचालय बनेंगे। किसी ने शायद यह सोचा भी नहीं होगा कि 4.5 लाख गांव, 450 जिले एवं 20 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश खुले में शौच से मुक्त हो सकते हैं।

बिग बी, रतन टाटा से की बात

इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने आम लोगों के साथ ही अभिनेता अमिताभ बच्चन और उद्योगपति रतन टाटा से भी विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संवाद किया। बिग बी ने पीएम मोदी को इस अभियान का श्रेय देते हुए कहा कि अगर मेरी शक्ल और अक्ल से सरकार प्रचार करा रही है तो इतना ही काफी नहीं है। मुझे लगता था कि इसके लिए निजी तौर पर भी प्रयास किया जाना चाहिए।

वहीं, पीएम मोदी ने उनको धन्यवाद देते हुए कहा, ‘आपने दो वर्ष पहले हरिवंश राय बच्चन के जन्मदिन को स्वच्छता से जोड़ा था। आपने महान व्यक्ति की महान पंक्तियों से देश को जोड़ने के लिए मैं आपका आभार व्यक्त करता हूं।’ रतन टाटा ने कहा वहीं, उद्योगपति रतन टाटा ने कहा कि हम आगे भी ‘स्वच्छ भारत’ मिशन के साथ बने रहेंगे। उन्होंने कहा कि हम चाहेंगे कि तकनीक के माध्यम से स्वच्छता अभियान में कुछ योगदान दिया जाए।’ वहीं, पीएम मोदी ने भी स्वच्छता को लेकर टाटा समूह के योगदान की सराहना की।

,
Shares