सोनिया- सिंधिया की मुलाकात पर बोले मंत्री, आज नहीं तो कल फैसला होना ही है

भोपाल. मध्य प्रदेश कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद को लेकर मचे घमासान के बीच मंगलवार को दिल्ली में कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया और पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी की मुलाकात पर सभी की निगाहें टिकी हुई हैं.

दिल्ली से लेकर मध्य प्रदेश तक सभी की नजर आलाकमान के फैसले पर टिकी हुई हैं. इसी बीच प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा का बड़ा बयान सामने आया है.

सोमवार को मीडिया से बातचीत में जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने सिंधिया और पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी की मुलाकात पर कहा है कि आज नहीं तो कल फैसला होना ही है.

कांग्रेस के सारे नेता एक हैं. कांग्रेस में यूनिटी है और जो भी फैसला लेना होगा वो सोनिया गांधी और मुख्यमंत्री कमलनाथ ले लेंगें.

प्रदेश भर में हो रही अच्छी बारिश पर जनसंपर्क मंत्री ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को अब समझ आ गया होगा कि मध्यप्रदेश में कमलनाथ के कदम अच्छे पड़े हैं.

कमलनाथ के आने से मध्यप्रदेश के अच्छे दिन आ गए हैं. मध्यप्रदेश में अच्छी बारिश होने से राज्य की आर्थिक स्थिति ठीक होगी. जनसंपर्क मंत्री ने बताया कि आदिवासियों के यहां बच्चा होने पर सरकार भोज देगी.

आदिवासियों के लिए यह हमारी सरकार के द्वारा उठाया जाने वाला अच्छा कदम है. हम आदिवासी वर्ग के विकास की चिंता करते हैं.

नर्मदा संरक्षण और संत समागम पर मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि 17 सितंबर को संत समागम का आयोजन किया जायेगा. नदी न्यास अध्यक्ष कम्प्यूटर बाबा की मुलाकात के बाद यह तारीख तय हुई है.

समागम में आए सन्तों के सुझाव सरकार लागू करेगी. नर्मदा में मशीनों के द्वारा उत्खनन नहीं किया जाएगा. जो संत कहेंगे वहीं कमलनाथ सरकार करेगी. इस दौरान नर्मदा न्यास के अध्यक्ष कंप्यूटर बाबा ने कहा कि सरकार सभी संतों की बात की सुनेगी.

पिछली सरकार ने कुछ नहीं किया था. अगले महीने होने वाले संत समागम में 2500 संत जुड़ेंगें. बाबा से जब से पीसीसी चीफ को लेकर पूछा गया तो उन्होंने कहा ये संगठन का मामला है और इसका फैसला हाईकमान को करना है.

,
Shares