सेंचुरियन में भी विराट ब्रिगेड का फ्लॉप शो, 135 रन से हार सीरीज में 0-2 से पीछे

 

सेंचुरियन टेस्ट में साउथ अफ्रीका ने टीम इंडिया को 135 रनों से हराकर टेस्ट सीरीज 2-0 से अपने नाम कर ली है. इसी के साथ ही भारतीय टीम का लगातार 10 टेस्ट सीरीज जीतने का सपना भी टूट गया. टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी साउथ अफ्रीका की टीम पहली पारी में 335 रन बनाकर ऑल आउट हो गई. जवाब में भारतीय टीम पहली पारी में 307 रन पर सिमट गई. पहली पारी के आधार पर अफ्रीका को 28 रनों की बढ़त मिली. दूसरी पारी में भारतीय टीम ने साउथ अफ्रीका को 258 रनों पर ढेर कर दिया. इसी के साथ ही भारत को जीत के लिए 287 रनों का लक्ष्य मिला. इस लक्ष्य के जवाब में टीम इंडिया 151 रन पर सिमट गई.

भारतीय टीम के लिए सबसे ज्यादा 47 रन रोहित शर्मा ने बनाए. उनके अलावा मोहम्मद शमी ने 28 रनों का योगदान दिया. चेतेश्वर पुजारा और पार्थिव पटेल ने 19-19 रनों की योगदान दिया. भारत के सिर्फ यही चार बल्लेबाज दहाई के अंक में पहुंच पाए. साउथ अफ्रीका के लिए डेब्यू करने वाले लुंगी नगीदी ने सर्वाधिक छह विकेट लिए. उनके अलावा कैगिसो रबाडा ने तीन सफलताएं हासिल कीं. एक बल्लेबाज रन आउट हुआ.

अफ्रीका ने टीम इंडिया को दिया 287 रनों का टारगेट

डीन एल्गर (61) और एबी  डिविलियर्स (80) की शतकीय साझेदारी के दम पर अफ्रीका ने भारत को 287 रनों का लक्ष्य दिया. अफ्रीका अपनी दूसरी पारी में 258 रन बनाकर ऑलआउट हो गई.

एल्गर और डिविलियर्स के अलावा, मेजबान टीम के लिए कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने 48 रनों का अहम योगदान दिया. इस योगदान के साथ ही प्लेसिस ने टेस्ट क्रिकेट में अपने 3,000 रन पूरे कर लिए हैं.

इस पारी में भारत के लिए मोहम्मद शमी ने सबसे अधिक चार विकेट लिए, वहीं जसप्रीत बुमराह ने तीन विकेट हासिल किए. इशांत शर्मा को दो सफलता मिली है. अश्विन भी एक विकेट लेने में सफल रहे.

पहली पारी में 307 पर भारत ऑलआउट

कप्तान कोहली (153) की बेहतरीन शतकीय पारी के साथ भारत ने अफ्रीका के खिलाफ पहली पारी में 307 रन बनाए. इस पारी के आधार पर भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका से 28 रन पीछे है. मेजबान टीम ने अपनी पहली पारी में 335 रन बनाए थे.

भारत के लिए पहली पारी में कोहली के अलावा, मुरली विजय ने 46 रन बनाए. रविचंद्रन अश्विन ने 38 रनों का योगदान दिया. इसके अलावा, टीम का कोई भी बल्लेबाज ज्यादा देर तक मैदान पर नहीं टिक पाया.

दक्षिण अफ्रीका के लिए मोर्ने मोर्केल ने चार विकेट लिए, वहीं वर्नोन फिलेंडर, केशव महाराज, कैगिसो रबाडा लुंगी नगीदी को एक-एक सफलता मिली.

कोहली ने बनाए शानदार 153 रन

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने अपने टेस्ट करियर का 21वां शतक लगाते हुए शानदार 153 रनों की पारी खेली है. इसी के साथ ही विराट कोहली ने बतौर कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के रिकॉर्ड को तोड़ दिया. धोनी के नाम कप्तान के तौर पर साउथ अफ्रीका में बेस्ट स्कोर 90 रन है, जो उन्होंने साल 2010 में सेंचुरियन में बनाया था. लेकिन कोहली ने धोनी को पीछे छोड़ते हुए शानदार शतकीय पारी खेली.इतना ही नहीं विराट कोहली कप्तान के तौर पर साउथ अफ्रीका की धरती पर शतक जड़ने वाले दूसरे भारतीय बन गए हैं. उनसे पहले सचिन तेंदुलकर ने बतौर कप्तान साल 1997 में केपटाउन में सैकड़ा लगाया था.

साउथ अफ्रीका की पहली पारी 335 पर सिमटी

साउथ अफ्रीका की टीम अपनी पहली पारी में 335 रनों पर ऑल आउट हो गई. साउथ अफ्रीका की ओर से एडेन मार्करम ने सबसे ज्यादा 94 रन बनाए जबकि हाशिम अमला ने 82 रनों की पारी खेली. इसके अलावा कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने 63 रन बनाए. रविचंद्रन अश्विन ने सबसे ज्यादा 4 विकेट लिए. ईशांत को तीन और शमी को एक सफलता मिली.

शमी ने पूरे लिए 100 टेस्ट विकेट

मोहम्मद शमी ने केशव महाराज (18) को 282 के स्कोर पर विकेट के पीछे पार्थिव पटेल के हाथों कैच कराया. इसी के साथ उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में अपने 100 विकेट पूरे कर लिए. शमी टेस्ट में विकेटों का शतक लगाने वाले 21वें भारतीय गेंदबाज बन गए हैं. वहीं वह इस मुकाम को हासिल करने वाले भारत के सातवें तेज गेंदबाज हैं. शमी ने 29वें मैच में यह उपलब्धी हासिल की.

साउथ अफ्रीका के विकेट्स

अश्विन ने डीन एल्गर (31) को आउट कर भारत को पहली सफलता दिलाई. उन्होंने एल्गर को मुरली विजय के हाथों कैच करा दिया. इसके अलावा अश्विन ने एडेन मार्करम (94) को शतक पूरा करने से रोक दिया.

मार्करम अपने शतक से छह रन दूर थे तभी अश्विन की गेंद उनके बल्ले का किनारा लेकर विकेटकीपर पार्थिव पटेल के हाथों में जा समाई. मार्करम ने अपनी पारी में 150 गेंदों का सामना करते हुए 15 चौके लगाए हैं.

ईशांत शर्मा ने साउथ अफ्रीका को तीसरा झटका दिया, जब उन्होंने खतरनाक दिख रहे डिविलियर्स (20) को बोल्ड कर पवेलियन लौटा दिया. हार्दिक पंड्या ने हाशिम अमला (82) को रन आउट कर साउथ अफ्रीका को चौथा झटका दे दिया.

इसके बाद क्रीज पर आए नए बल्लेबाज क्विंटन डी कॉक (0) भी बिना खाता खोले अश्विन की गेंद पर विराट कोहली द्वारा लपके गए. डी कॉक के बाद आए वर्नोन फिलेंडर (0) भी बिना खाता खोले रन आउट होकर पवेलियन लौट गए.

मोहम्मद शमी ने केशव महाराज (18) को विकेट के पीछे पार्थिव पटेल के हाथों कैच करा कर साउथ अफ्रीका को सातवां झटका दिया. इसके बाद डु प्लेसिस को कैगिसो रबाडा (11) का साथ मिला और दोनों ने टीम का स्कोर 324 तक पहुंचा दिया. ईशांत शर्मा की गेंद पर हार्दिक पंड्या के हाथों लपके जाने से पहले रबाडा को कोहली ने रविचंद्रन अश्विन की गेंद पर स्लिप में विराट कोहली ने जीवनदान दिया.

फाफ डु प्लेसिस की पारी का अंत ईशांत ने उन्हें बोल्ड कर किया. डु प्लेसिस ने अपनी पारी में नौ चौके लगाए. मोर्ने मोर्केल (6) को अश्विन ने मुरली विजय के हाथों कैच करा मेजबान टीम की पारी का अंत किया.

,
Shares