सांप्रदायिक वैमनस्य भड़का रहे हैं कमलनाथ, भाजपा ने चुनाव आयोग से की शिकायत

 

 

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व सांसद  प्रभात झा के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा एक वीडियो के माध्यम से साम्प्रदायिक वैमनस्यता भड़काने के लिए दिए जा रहे संदेश की शिकायत निर्वाचन आयोग की है। प्रतिनिधिमंडल ने हबीबगंज थाने में भी आवेदन देकर कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने और उन्हें तत्काल गिरफ्तार किए जाने की मांग की है।

प्रभात झा के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल बुधवार को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से मिला। प्रतिनिधिमंडल ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के टीवी चैनलों पर दिखाए जा रहे वीडियो की शिकायत निर्वाचन आयोग से की है। शिकायत में कहा गया है कि इस वीडियो में कमलनाथ मुस्लिम समुदाय को संबोधित करते हुए कह रहे हैं कि कांग्रेस की जीत का एकमात्र आधार आप हैं। कमलनाथ उस वीडियो में कोई भी हथकंडा अपनाकर 90 प्रतिशत वोट मुसलमानों से कराने की बात कह रहे है। कमलनाथ ने कहा कि only muslims vote can save congress(केवल मुस्लिमों के वोट ही कांग्रेस को बचा सकते हैं) उक्त वीडियो में कमलनाथ यह भी कहते दिखाई दे रहे है कि अनुसूचित जाति,जनजाति के मतदाताओं पर कांग्रेस को भरोसा नहीं है। उनका वोट बैंक बंट जाता है। मुसलमानों को चेतावनी देते हुए कमलनाथ ने यह भी कहा कि यदि आपने कांग्रेस को नहीं जिताया तो आरएसएस आगामी एक माह में कुछ षडयंत्र कर रहा है। आप तो हमें वोट देकर जिताओ। चुनाव के बाद हम निपट लेंगे।

प्रभात झा ने कहा कि कमलनाथ साम्प्रदायिक सदभाव बिगाड़ने का परोक्ष रूप से आव्हान कर रहे है। कमलनाथ साम्प्रदायिक वैमनस्य भड़काने का प्रयास कर रहे है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश शांति और सौहार्द्र का टापू है। कमलनाथ को मध्यप्रदेश का अमन और चैन खल रहा है। उन्होंने कहा कि जातिवाद और धर्म के आधार पर कांग्रेस दूषित खेल, खेल रही है। कमलनाथ को डर है कि मुस्लिमों के वोट भाजपा को न चले जाए। कांग्रेस हताश और निराश है। प्रभात झा ने कहा कि कमलनाथ के इस बयान से स्पष्ट है कि वे मध्यप्रदेश में कुछ भी करवा सकते हैं।

शिकायत में कमलनाथ के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई की मांग की गई है। पार्टी के इस प्रतिनिधिमंडल में प्रदेश उपाध्यक्ष श्री विजेश लुणावत, बाबूसिंह रघुवंशी,  शैलेन्द्र शर्मा, निर्वाचन आयोग समिति के संयोजक  शांतिलाल लोढ़ा,श्री एस.एस.उप्पल,  संतोष शर्मा,  अजय शर्मा आदि शामिल थी।

,
Shares