सवा सौ साल पुरानी कांग्रेस आज छोटे दलों के पैर पकड़ने को मजबूर:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

भोपाल. भाजपा के कार्यकर्ता महाकुंभ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा- कांग्रेस का गठबंधन देश की भलाई के लिए नहीं, पराजय के डर से पैदा हुआ है। देश में भाजपा की सरकारें कामयाब नहीं हुई होतीं तो कांग्रेस छोटे-छोटे दलों के पैर पकड़ने के लिए नहीं जाती। आज हर छोटे दल के पैर पकड़ रही है। भाजपा ने इसे दुनिया के सबसे बड़े कार्यकर्ता सम्मेलन के तौर पर प्रचारित किया। इसमें प्रदेश के 65 हजार बूथों से 10 लाख से ज्यादा कार्यकर्ताओं के पहुंचने का दावा किया गया।

मोदी ने कहा, “जिस पार्टी ने 60 सालों तक शासन किया, उस पार्टी को आज सूक्ष्मदर्शी लेकर देखना पड़ता है कि कहीं बची है कि नहीं। कांग्रेसवालों आप इस पर विचार करो। हमने चुनाव हारने के बाद ईवीएम मशीन को गाली देकर अपना पल्ला नहीं झाड़ा। हमने अपने भीतर झांका और जनसंकल्प का आशीर्वाद पाने के लिए चल पड़े। आज देश की जनता ने हम पर भरोसा कर लिया। कांग्रेस ये भी करने को तैयार नहीं है। 440 से 44 हो गए, लेकिन आत्मचिंतन करने को तैयार नहीं। अहंकार है, गद्दियां रिजर्व हैं। चायवाला, गरीब मां का बेटा शिवराज, गरीब मां का बेटा ये नहीं बैठ सकते। खानदानी हक है, जिसका वही बैठ सकते हैं। लोकतंत्र में ये आपको मंजूर है क्या।”

हमें गांधी भी स्वीकार है, लोहिया भी : मोदी ने कहा, “महात्मा गांधी, राम मनोहर लोहिया और पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने राष्ट्र कल्याण, आखिरी पंक्ति के व्यक्ति के विकास के विचारों से देश का मार्गदर्शन किया। ये हमारा सौभाग्य है कि हम वो लोग हैं, जिन्हें गांधी, लोहिया और दीनदयाल सब स्वीकार हैं।”

मुझे सेवा का अवसर चाहिए भाइयों : मोदी ने कहा, “कौन लोग थे, जिन्होंने मध्यप्रदेश को बीमारू राज्य की सूची में डालने के लिए काले कारनामे किए थे। कितनी मेहनत लगी मध्यप्रदेश को विकासशील राज्य बनाने में। केंद्र में अब ऐसी सरकार बैठी है, जो राज्यों को आगे बढ़ाने में विश्वास करती है। मुझे सेवा का अवसर चाहिए भाइयों। शिवराज जी ने गति दी है, दिल्ली में हमें जितना अवसर दिया, हमने साथ और सहयोग दिया। अब मौका है नई छलांग लगाने का।”

राहुल गांधी सपना देख रहे हैं : शाह
इससे पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा- राहुल गांधी कहीं बोल रहे थे कि मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनेगी। आपको स्वप्न देखने की आजादी है। लेकिन, किस आधार पर आप सरकार बनाएंगे? मौनी बाबा मनमोहन के समय में कमजोर नीतियों वाली सरकार बनाई। अर्थव्यवस्था का आपने बंटाधार कर दिया था। भाजपा सरकार से पहले 10 साल तक मध्यप्रदेश में श्रीमान बंटाधार का शासन था। मध्यप्रदेश को बीमारू राज्य बनाकर छोड़ दिया था।

राहुल फन मशीन हैं : शिवराज
मोदी के संबोधन से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। उन्होंने कहा- राहुल गांधी मुझे घोषणा मशीन कहते हैं। राहुल गांधी तो फन मशीन हैं। घोषणा वह करता है, जिसके मन में संकल्प हो मध्यप्रदेश को नंबर वन राज्य बनाने का। 2003 से पहले मध्य प्रदेश में सड़कें नहीं थीं। आज राज्य में विश्वस्तरीय सड़कें बनाई हैं। सिंचाई की बेहतर व्यवस्था की घोषणा की है। 40 लाख हेक्टेयर तक सिंचाई पहुंचा देंगे। नर्मदा का पानी क्षिप्रा में लाने की घोषणा की थी और हम ले आए।

ट्रैफिक रोका गया : हबीबगंज रेलवे स्टेशन पर बाहर से आए कार्यकर्ताओं को महाकुंभ में ले जाने के लिए करीब 100 बसें लगाई गईं। यहां कार्यकर्ताओं की भीड़ को देखते हुए ट्रैफिक रोक दिया गया। राजधानी के मुख्य रेलवे स्टेशन से भी कार्यकर्ताओं को यहां लाने के लिए 150 बसों को इंतजाम किया गया।

महाकुंभ से पहले भाजपा नेताओं के पोस्टरों पर पोती कालिख

सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजामों के बावजूद मोदी और अमित शाह समेत भाजपा नेताओं के पोस्टरों पर किसी ने कालिख पोत दी। आनन-फानन में इनकी जगह नए पोस्टर लगाए गए।

महाकुंभ में काले कपड़े पहनकर जाने पर रोक

महाकुंभ में काले कपड़े पहनकर और काले बैग लेकर आने वालों को पुलिस ने रोक दिया। कार्यक्रम स्थल पर काले कपड़ों और बैगों का ढेर लग गया।

आडवाणी के सिर्फ दो कटआउट : शहर में पहले पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के कटआउट नहीं लगाए गए थे, लेकिन कार्यक्रम से एक रात पहले कुछ जगहों पर उनके पास्टर भी लगा दिए गए। उधर भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष लालकृष्ण आडवाणी के सिर्फ दो पोस्टर सभास्थल पर नजर आए। मोदी, शाह, शिवराज और राकेश सिंह के बाद सबसे ज्यादा कटआउट राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा के दिखे। नरेंद्र सिंह तोमर और कैलाश विजयवर्गीय के पोस्टर झा के मुकाबले कम दिखे। उधर मुख्य मार्गों से लेकर आयोजन स्थल तक कहीं भी भाजपा नेता प्रहलाद पटेल का एक भी कटआउट नहीं था। सोमवार शाम उन्होंने अपने कटआउट लगवाए।

,
Shares