सरकारी स्कूलों में नर्सरी से शुरू होगी प्राथमिक शिक्षा

भोपाल, 05 मार्च । मध्यप्रदेश के सरकारी स्कूलों को भी अब निजी स्कूलों की राह पर चलाने की तैयारी की जा रही है। दरअसल, सरकार ने आगामी सत्र से प्राथमिक शिक्षा की शुरुआत कक्षा पहली की जगह अब नर्सरी से करने की योजना बनाई है। सरकारी स्कूलों में शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए यह कदम उठाया जा रहा है। इसके तहत निजी स्कूलों की तरह अब नर्सरी, यूकेजी, और एलकेजी कक्षा को शुरू करने की तैयारी राज्य सरकार ने कर दी है। अगर सब कुछ ठीक ठाक रहा तो नए सत्र में काफी कुछ बदलाव दिखाई देगा। शिक्षा विभाग से जुड़े सूत्र बताते हैं, प्रदेश सरकार बीते साल अक्टूबर को दिल्ली में हुई केंद्रीय समीक्षा बैठक में यह प्रस्ताव रख चुकी है। नए सत्र से प्रदेश के सरकारी स्कूलों में भी नर्सरी की कक्षाएं शुरू करने की तैयारियां चल रही हैं। शिक्षाविदें की मानें तो सरकारी स्कूलों में नर्सरी, एलकेजी कक्षाओं से बेस बनने की शुरूआत होती है। किसी मजबूत नींव पर ही ऊंची इमारत की कल्पना की जा सकती है। इसी सोच को ध्यान में रखकर समय के साथ पुरानी व्यवस्था में बदलाव के लिए यह कवायद की जा रही है। सूत्रों की माने तो नए सत्र से 10 वीं तक की पढ़ाई को आरटीई के दायरे में भी लाने के प्रयास किए जा रहे हैं। फिलहाल सरकारी स्कूलों में पहली कक्षा से पढ़ाई कराई जा रही हैं। शिक्षा के क्षेत्र में निजी स्कूलों की लगातार बढ़ती लोकप्रियता के शिक्षा विभाग भी सरकारी स्कूलों में इसी तर्ज पर शुरूआत की तैयारी में है। शिक्षा विभाग का मानना है कि बेसिक चीजें सीखने के लिए नर्सरी, एलकेजी, यूकेजी जरूरी हैं।

Shares