राशन दुकानों पर बिकेंगे पतंजलि के उत्पाद, अन्य कंपनियों से भी होगा करार

 

 

 

 

 

 

 

 

भोपाल। सहकारी समितियों द्वारा चलाई जाने वाली राशन दुकानों में अब पतंजलि के उत्पाद मिलेंगे। राज्य उपभोक्ता संघ ने होलसेल डीलरशिप ले ली है।. संघ एमआरपी से 5 से 20 प्रतिशत कम दाम पर इन्हें समितियों को देगा। इसके लिए संघ ने सरकार को प्रस्ताव भेज दिया है। वहीं, विभाग ने तय किया है कि बड़ी कंपनियों से करार कर ब्रांडेड उत्पाद गांवों की दुकानों पर मुहैया कराए जाएंगे। इस काम के लिए समिति के साथ सेल्समैन को मुनाफे में हिस्सेदारी भी दी जाएगी।.

सूत्रों के मुताबिक गुजरात की तर्ज पर प्रदेश की राशन दुकानों को बहुउद्देश्यीय और कॉमन सर्विस सेंटर के तौर पर विकसित करने के लिए सहकारिता विभाग ने उपभोक्ता संघ को जिम्मेदारी सौंपी है। संघ ने इसके लिए समिति के माध्यम से बहुउद्देश्यीय दुकान के संचालन का मॉडल तैयार किया है।.

इसके तहत राशन दुकान में सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) की सामग्री के अलावा अन्य उत्पाद बेचने पर जो मुनाफा होगा, वो समिति और सेल्समैन को मिलेगा। पूरा लेन-देन समिति के रिकॉर्ड में दर्ज होगा, ताकि कोई गड़बड़ी न हो। सामान ऐसे रखे जाएंगे, जो जल्दी खराब न हों और उनकी मांग हो।.

इसके तहत पतंजलि के उत्पाद भी दुकानों पर रखे जाएंगे। ये मांग पर समितियों को मिलेंगे। इसी तरह अन्य बड़ी कंपनियों के उत्पाद भी संघ के माध्यम से दुकानों को बेचने के लिए दिए जाएंगे। ये भी व्यवस्था होगी कि यदि उत्पाद नहीं बिकते हैं तो कंपनियां इन्हें वापस लेंगी।.

कंपनियों से कर रहे करार.

सहकारिता विभाग के प्रमुख सचिव अजीत केसरी ने बताया कि कोई एक उत्पाद नहीं बल्कि वे सभी चीजें दुकानों पर मिलेंगी, जिनकी मांग है। इसके लिए संघ कंपनियों से करार करेगा।.

 

Shares