राघौगढ़ उपद्रव : भाजपा-कांग्रेस के 22 कार्यकर्ताओं पर केस दर्ज

राघौगढ़। शुक्रवार शाम राघौगढ़ नगरपालिका चुनाव प्रचार में आए मुख्यमंत्री की सभा के दौरान कांग्रेस समर्थकों की नारेबाजी ने बड़े हंगामे का रूप ले लिया। जैसे ही सीएम राघौगढ़ से रवाना हुए, कांग्रेस-भाजपा कार्यकर्ता आमने-सामने हो गए। इस दौरान मारपीट, झंडे-बैनर और घरों में तोड़फोड़ और पत्थरबाजी की गई। प्रशासन ने धारा 144 लगा दी। रात करीब 10 बजे से शुरू हुआ हंगामा सुबह 6 बजे तक चलता रहा। पुलिस ने शनिवार को भाजपा-कांग्रेस दोनों पार्टियों के 22 कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

मुख्यमंत्री की सभा में अचानक 70-80 कांग्रेस कार्यकर्ता दिग्गी राजा जिंदाबाद के नारे लगाते हुए पीछे की तरफ आ गए। एसपी ने उन्हें गिरफ्तार करने के निर्देश दिए, लेकिन फोर्स कम होने के कारण 70-80 कार्यकर्ताओं को पकड़ना मुश्किल था, लिहाजा पुलिस ने उन्हें खदेड़ दिया। इस दौरान धक्का-मुक्की में राघौगढ़ टीआई डीएस चौहान की कैप गिरने पर भाजपा कार्यकर्ता भी आक्रोशित हो गए और कांग्रेस कार्यकर्ताओं से भिड़ गए। तिलक नामक व्यक्ति से मारपीट शुरू कर दी। पुलिस ने तिलक को एक घर में ले जाकर बचाया।

सीएम के जाते ही हुए आमने-सामने

मुख्यमंत्री के जाते ही रात करीब 11 बजे कांग्रेस कार्यकर्ता सभास्थल पहुंचे और तोड़फोड़ करने लगे। यहां भाजपा के दिलावर खां के साथ मारपीट की गई। पुलिस यहां से बमुश्किल उपद्रवियों को खदेड़ पाई। इसके बाद कांग्रेस के त्रिलोक साहू के घर पर तोड़फोड़ के बाद कांग्रेस-भाजपा के समर्थक फिर से आमने-सामने हो गए। विधायक जयवर्धन सिंह और भाजपा विधायक ममता मीना अपने-अपने समर्थकों के साथ मौके पर थे। दोनों तरफ से करीब एक घंटे तक नारेबाजी चली और पत्थरबाजी शुरू हो गई। कलेक्टर राजेश जैन, एसपी निमिष अग्रवाल की मौजूदगी मे पुलिस फोर्स ने आंसू गैस के गोले छोड़कर भीड़ को तितर-बितर किया।

कांग्रेसियों पर मामला दर्ज होने पर जयर्वन ने किया थाने का घेराव

पुलिस ने भाजपा के दिलावर खान की शिकायत पर मुसूदन, राजीव साहू, कुलदीप कश्यप, शकील मंसूरी, त्रिलोक साहू, रमीश खान, झब्बू खां, तिलक सहित 9 के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया। इससे नाराज कांग्रेस विधायक जयवर्धन सिंह ने थाने का घेराव किया और सुबह करीब 6 बजे तक थाने में मौजूद रहे, तब जाकर कांगे्रस की शिकायत दर्ज की गई। पुलिस ने कांगे्रस के त्रिलोक साहू की शिकायत पर भाजपा समर्थक गोपाल पटवा, कैलाश सुमन, प्रकाश मीना, रामप्रसाद वाल्मीक, के के मीना, मंटी मीना, चिंटू साहू, संजय उर्फ राजू प्रतापति, लाला बना, दिलावर खान, बब्लू मीना, गोलू गुर्जर, रामसेवक आदि के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया।

सोशल मीडिया पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की अपील

राघौगढ़ की घटना के बाद सोशल मीडिया पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का वीडियो सामने आया। उन्होंने वीडियो में कहा है कि ‘मैं नर्मदा परिक्रमा पर हूं। कल रात मुझे मालूम चला है कि बहुत अप्रिय घटना घटित हुई है राघौगढ़ में। जो कल कुछ असामाजिक तत्वों ने निर्दोष लोगों के घर जाकर मारपीट की, घर तोड़ दिए, मैं उसकी घोर निंदा करता हूं। मैं राघौगढ़ की जनता से हाथ जोड़कर विनम्र अपील करता हूं कि शांति बनाए रखें। प्रशासन से मैं इतना ही कहूंगा कि किसी दबाव में काम न करें, दोषी व्यक्ति के खिलाफ सख्त और निष्पक्ष कार्रवाई करें। यदि पक्षपात किया, तो इसके गंभीर परिणाम भी होंगे।

,
Shares