योगी कैबिनेट में पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान, पहले भी कई खिलाड़ी खेल चुके सत्ता का खेल

नई दिल्ली, 19 मार्च। भारत के पूर्व क्रिकेटर और बीजेपी नेता चेतन चौहान भी टीम योगी में मंत्री बने हैं उन्होंने नौगांव सीट से जीत हासिल की है। चेतन चौहान इंडियन क्रिकेट टीम के भी सदस्य रहे हैं। पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान अमरोहा जिले के नौगावां सादात विधानसभा सीट से बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ जीत हासिल की है। चेतन चौहान निफ्ट के चेयरमैन भी रह चुके हैं। इस सीट से चेतन चौहान ने सपा उम्मीदवार जावेद आब्दी को पराजित किया है जो अखिलेश यादव के करीबी माने जाते हैं। चेतन चौहान 1991 में अमरोहा सीट से पहली बार बीजेपी से सांसद बने थे। 1996 में चुनाव हारने के बाद 1998 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने फिर वापसी करते हुए जीत दर्ज की, लेकिन 1999 और 2004 में वे फिर हार गए थे। क्रिकेट और राजनीति का रिश्ता काफी पुराना है। कई बार ऐसा देखा गया है कि क्रिकेट के मैदान पर शानदार प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी राजनीति के मैदान पर भी अच्छा प्रदर्शन करते हैं। चेतन चौहन कोई पहले खिलाड़ी नहीं हैं जिन्हें एक राजनीतिज्ञ्य के तौर पर मंत्री बनने का मौका मिला हो। इसके पहले भी कई खिलाड़ी अपनी राजनीतिक पारी खेलते रहे हैं। जैसे कीर्ति आजाद। 1993 से 1998 तक दिल्ली विधानसभा में बीजेपी के विधायक रहे। कीर्ति आज़ाद एक बार विधानसभा चुनाव और तीन बार लोकसभा चुनाव जीत चुके है। नवजोत सिंह सिद्धू राजनीति में सफल होने वाले दूसरे खिलाड़ी हैं। वह पंजाब के अमृतसर सीट से दो बार लोकसभा और एक बार राज्यसभा सांसद रहे। फिलहाल वो कांग्रेस में शामिल होकर पंजाब सरकार में मंत्री बने हुए हैं। क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर राजनीति के मैदान पर 2013 से राज्यसभा के सांसद रहें। लेकिन वह खुद को सक्रिय राजनीति से दूर रखते हैं। एस श्रीसंथ ने कुछ दिनों पहले भाजपा की सदस्यता ली थी और केरल के तिरुअनंतपुरम विधानसभा सीट से चुनाव लड़ते हुए हार गए थे। मोहम्मद कैफ टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी मोहम्मद कैफ भी राजनीति मे विफल हुए हैं। पिछले लोकसभा चुनाव में मोहम्मद कैफ कांग्रेस की टिकट से उत्तर प्रदेश के फूलपुर सीट से चुनाव लड़ते हुए हार गए थे। वहीं पूर्व भारतीय कप्तान मोहम्मद अज़हरुद्दीन ने साल 2009 में उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद सीट से चुनाव जीतकर सांसद बने थे। लेकिन वो 2014 में राजस्थान के टोंक सवाई माधोपुर सीट से चुनाव लड़े थे और हार गए। राज्यवर्धन सिंह राठौड़ भारतीय निशानेबाज रहे जिन्होंने 2004 ग्रीष्मकालीन ओलम्पिक, एथेंस में डबल ट्रैप स्पर्धा में रजत पदक जीता था। वो प्रथम भारतीय (स्वतंत्रता के बाद) हैं जिन्होंने व्यक्तिगत रजत पदक जीता। वो 16वीं लोकसभा में जयपुर ग्रामीण लोकसभा क्षेत्र से भाजपा के सांसद चुने गये और वर्तमान समय में केन्द्र सरकार में मंत्री भी हैं।

Shares